पुलगांव स्थित सेना डिपो के निकट बमों में भीषण विस्फोट, 6 मृत, 10 गंभीर

0
932
पुलगांव विस्फोट

भारतीय सेना के केंद्रीय गोला-बारूद डिपो में दो वर्षों में दूसरा बड़ा हादसा

अश्विन शाह,
पुलगांव (वर्धा) :
वर्धा जिलेके पुलगांव स्थित भारतीय सेनाके केंद्रीय गोला-बारूद डिपो (सीएडी) के खराब बमोंको नष्ट करनेके क्रममें हुए भीषण विस्फोटमें 6 लोगोंकी जान चली गई. इनमें से चार लोगोंकी मृत्यु घटनास्थल पर और दो की अस्पताल ले जाते समय हो गई. अन्य 12 घायलोंमें चार की हालत गंभीर बताई जाती है. पुलगांव के इस डिपो में दो वर्षों में यह दूसरा बड़ा हादसा है.

बमों की पेटी गिराने से हुआ विस्फोट
केंद्रीय गोला-बारूद डिपो के सूत्रों के अनुसार खराब बमों को सोनेगांव आबा में आज मंगलवार की सुबह 5.30 बजे नष्ट करने की तैयारी शुरू हुई थी. इसीबीच बमों कीपेटी विस्फोट स्थल पर पहुंचाते वक्त मजदूरोंके हाथ से फिसल कर गिर गई और विस्फोटका यह बड़ा हादसा हो गया. बताया गया कि इस हादसे की जांचके आदेश दे दिए गए हैं.
पुलगांव विस्फोट
आयुध डिपो कर्मचारी और 5 ठेका मजदूरों की मृत्यु
बताया गया कि इन बमों को नष्ट करने के लिए सेना के जबलपुर स्थित आयुध निर्माणी (आर्डनेंस फैक्ट्री) से आए अधिकारियों और कर्मचारियों में से एक उदयवीर सिंह(38) की भी मृत्यु हो गई. अन्य 5 मृतकों में सोनेगांव आबा निवासी नारायण शामराव पचारे(55), विलास लक्ष्मणराव पचारे(40) और प्रभाकर रामदास वानखेड़े(40), केलापुर गांव निवासी राजकुमार राहुल बोवाटे(23) और प्रवीण प्रकाशराव मुंजेवार(25) शामिल हैं. ये 5 मृतक और 10 घायल लोग ठेका मजदूर बताए जाते हैं, जो आसपासके गांवोंके ही निवासी हैं.

दो अस्पताल ले जाते वक्त चल बसे
जिन दो लोगों की मृत्यु अस्पताल ले जाते वक्त हुई, उनमें केलापुर गांव निवासी राजकुमार राहुल बोवाटे (23) और प्रभाकर रामदास वानखेड़े (40) हैं. इनके साथ अन्य 10 लोगों को उपचार के लिए सावंगी मेघे स्थित आचार्य विनोबा भावे ग्रामीण अस्पताल में भेजा गया है.

चार गंभीर, 6 मामूली जख्मी
10 घायलों में से 4 गंभीर रूप से जख्मी में दो प्रवीण श्रीराम नेताम और दिलीप निमगड़े को पेट की इंजूरी है. उनकी शल्य क्रिया की जा रही है. प्रशांत मूंजवार और मनोज मोरे को छाती में गंभीर चोट है और उनके पैरों में भी फ्रेक्चर है. अन्य 6 लोग सामान्य रूप से घायल हैं, उनके नाम हैं- इजराइल मोहम्मद शाह, मनोज रामदास सायं, प्रशांत हरिभाऊ मड़ावी, रूपराव श्रीराम नेताम, संदीप शंकरराव पचारे और विलास शेषराव बेलसरे.

सभी जख्मियों को आचार्य विनोबा भावे ग्रामीण अस्पताल भेजा गया
सावंगी मेघे स्थित आचार्य विनोबा भावे ग्रामीण अस्पताल सूत्रों बताया की 12 जख्मियों को सुबह 7.45 बजे अस्पताल लाया गया. अस्पताल पहुंचते ही सभी का उपचार शुरू किया गया. दो की मृत्यु अस्पताल पहुंचने से पूर्व ही रास्ते में हो गई थी. चारों गंभीर जख्मियों का उपचार पूर्व सांसद और कुलाधिपति दत्ताजी मेघे की देखरेख में कुलपति डॉ.आर.एम. बोरले, सीईओ डॉ.संदीप श्रीवास्तव, डॉ.अभ्युदय मेघे और डॉ.चंद्रशेखर महाकालकर द्वारा की जा रही है.

पुलगांव और आसपास के गांवके लोग दहले
घटना की जानकारी मिलते ही प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष चारूलता टोकस ने पीड़ित परिवारों से मिल कर उन्हें सांत्वना दी. विस्फोट की इस घटना से एक बार फिर पुलगांव और आसपास के गांव के लोग दहल गए. ज्ञातव्य है कि दो वर्ष पूर्व भी केंद्रीय गोला-बारूद डिपोके एक भंडारमें ऐसे ही भयंकर विस्फोटमें अनेक लोगोंकी जान चली गई थी. उनमें पुलगांवपुलगांवपुलगांवपुलगांव निवासी डिपोके कर्मचारी भी शामिल थे.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY