पकड़े गए रेल आरक्षण ई-टिकट के दो कालाबाजारिए

0
1306
नागपुर आरपीएफ द्वारा पिछले दिनों ई-टिकटों की कालाबाजारी में पकड़ी गई सामग्रियों के साथ अधिकारीगण और आरपीएफ कर्मी (फाइल फोटो).

सवा लाख की ई-टिकट के साथ डोंगल, राउटर, प्रिंटर तथा मोबाईल जब्त, आरपीएफ की बड़ी कार्रवाई

नागपुर : रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) नागपुर ने आज मंगलवार, 16 अक्टूबर को शहर के एमआईडीसी, हिंगणा क्षेत्र के दो अलग-अलग रेल आरक्षण ई-टिकट की कालाबाजारी करने वाले हैप्पी टूर एन्ड ट्रैव्हल्स और जायस्वाल ट्रैव्हल्स के मालिकों को गिरफ्तार कर उनके ठिकानों से लाखों रुपए के ई-टिकट एवं कम्प्युटर व अन्य सामग्री जब्त किया.

ई-टिकटों की कालाबाजारी की खबर की पुष्टि के बाद एमआईडीसी पुलिस के सहयोग से आरपीएफ की टीम ने एमआईडीसी एरिया में पहले “हैप्पी टूर एन्ड ट्रैव्हल्स” दूकान में छापा मारा. दूकान के मालिक निखिल हनुमंत शर्मा (30) से कड़ी पूछताछ के बाद दो पंचों के समक्ष जांच टीम ने पाया कि वह अलग-अलग नाम से 22 फेक आईडी बना रखा था. कम्प्युटर में उन आईडी को खोलकर 66,831 रुपए के रेल आरक्षण की 49 ई-टिकट बरामद किया. निखिल शर्मा यात्रियों से 200 से 300 रुपए प्रति टिकट कमीशन लेकर उन्हें ई-टिकट उपलब्ध कराया करता था.

आरपीएफ ने शर्मा के पास से 66,831 रुपए के रेल आरक्षण की 49 ई-टिकटें सहित डोंगल, राउटर, प्रिंटर तथा मोबाईल जब्त किए. उसके पास से कुल 93331 रुपए की सामग्री की जब्ती का पंचनामा कर आरोपी शर्मा को एमआईडीसी पुलिस स्टेशन लाया गया, जहां उससे पागे की पूछताछ के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

दूसरे मामले में एमआईडीसी क्षेत्र के ही सेंत जेवियर स्कूल के पास एक अन्य “जायस्वाल ट्रैव्हल्स” नामक दूकान पर छापा मारा गया. उसके मालिक रड़के ले-आउट हिंगणा रोड निवासी राजेश दिलीप जायस्वाल (52) के कम्प्युटर से फेक आईडी के माध्यम से कुल 14,471 रुपए के 12 ई-टिकट बरामद किए गए. कड़ाई से पूछताछ के बाद उसने भी ई-टिकटों की कालाबाजारी करना कबूली. उसके पास से भी 14,471 रुपए के 12 ई-टिकट सहित कम्प्युटर सिस्टम, एक राउटर, एक प्रिंटर, तथा एक डोंगल जब्त किया गया. इनकी कुल कीमत अंदाजन 34,471 रुपए बताई गई.

इन दोनों कालाबाजारियों से 1 लाख 28 हजार रुपए के ई- टिकट जब्त किए गए. इनके विरुद्ध एमआईडीसी थाने में आरपीएफ द्वारा रेल अधिनियम की दफा 143 के तहत मामला दर्ज कराया गया. इसके बाद एमआईडीसी थाना पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया.

यह दोनों कार्रवाई आर.पी.एफ, नागपुर के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ज्योति कुमार सतीजा के मार्गदर्शन में आरपीएफ के उपनिरीक्षक राजेश औतकर, उपनिरीक्षक होतीलाल मीना, सहायक उपनिरीक्षक सीताराम जाट, प्रधान आरक्षक सुभाष जुमले, प्रधान आरक्षक राकेश करवाडे, आरक्षक विकास शर्मा तथा मुख्यालय, नागपुर के आरक्षक अश्विन पवार, आरक्षक अमित बारापात्रे और आरक्षक ओमेश्वर चौहान ने एमआईडीसी हिंगणा पुलिस के सहयोग से किया.

NO COMMENTS