प्रदेश कांग्रेस नेता मुजीब पठान के बुटीबोरी निवास पर डकैती, तीनों डकैत गिरफ्तार

0
161
बुटीबोरी के वार्ड क्र. 3 स्थित मुजीब पठान के निवास के बाहर एकत्र पत्रकार एवं नागरिक. इनसेट में कांग्रेस नेता मुजीब पठान.

बुटीबोरी (नागपुर) : कांग्रेस के प्रदेश महासचिव मुजीब पठान के यहां वार्ड क्र.-3 स्थित निवास में गुरुवार की रात में हुई डकैती के तीनों डकैतों को गिरफ्तार कर डकैती की नगदी सहित सारी कीमती सामग्री पुलिस ने बरामद कर लिया है. डकैतों को स्थानीय नागरिकों ने मुजीब पठान के छोटे भाई अकबर पठान के द्वारा शोर मचाने और उन्हें सतर्क करने पर खदेड़ कर पकड़ा और बुटीबोरी पुलिस के हवाले कर दिया.

डकैती की 12 लाख रुपए की सामग्री जब्त
गिफ्तार सकैतों में प्रवीण माणिक मंजुलकर (29, पिंपलगांव, ता. हिंगणघाट, जिला वर्धा), मन्नूसिंह जनरलसिंह ताक (40, दुर्गापुर-नेरी, जिला चंद्रपुर) और वसीमशाह गोलूशाह (26, नेर पिंगलाई, ता. मोर्शी, जिल्ला अमरावती) शामिल हैं. पुलिस ने डकैतों से 11 लाख 1 हजार 200 रुपए के सोने के आभूषण और एक लाख रुपए नगद कुल मिलाकर 12 लाख 1 हजार 200 रुपए की सामग्री जब्त किए. पुलिस ने डकैतों को भादंवि की दफा 394, 452, 459 व 34 के तहत गिरफ्तार कर जांच शुरू कर दी है.

माता-पिता, पत्नी और छोटे भाई की पत्नी के आभूषण और नगदी छीने
प्राप्त जानकारी के अनुसार मुजीब पठान हिंगोली गए हुए थे. मध्यरात्रि को तीन डकैत उनके निवास में घुस कर रसोई घर का दरवाजा तोड़ कर अंदर प्रवेश किया और उनकी मां और पिताजी को धमाका कर उनके आभूषण छीने. बाद में पत्नी के कमरे में घुस कर उन्हें चाकू दिखा जान से मार डालने की धमकी दिया और उनके पास की नगद रकम और उनके आभूषण कब्जे में ले लिया. उसके बाद तीनों मुजीब पठान के छोटे भाई के ऊपरी मंजिल पर स्थित कमरे में जाकर वहां से भी आभूषण और नगद राशि लेकर नीचे आए.

ऐसे पकड़े गए तीनों डकैत
इस बीच उनके छोटे भी अकबर पठान ने डकैतों की नजर बचा कर बाहर निकला और चौकीदार को जगाया, पुलिस और अपने रिश्तेदारों को मोबाइल फोन से खबर कर दी और डकैती के माल बाहर जाते एक डकैत को अकबर पठान ने दबोच लिया. लेकिन डकैत ने लोहे के रॉड से वार कर उन्हें घायल कर दिया और बाइक क्र. एमएच-35/एएन-23 से भागने लगे. इसी बीच खबर पा कर अपनी कार से वहां पहुंचे कयूम पठान ने भागते डकैतों की बाइक को अपनी कार से टक्कर मार दी और इसके साथ ही स्थानीय नागरिक डकैतों को खदेड़ कर पकड़ने में सफल रहे.

इस दुस्साहसिक डकैती से स्थानीय नागरिकों ने पुलिस की अपराधियों में डर समाप्त हो जाना मानते हुए गहरा आक्रोश व्यक्त किया है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY