नवी मुंबई में सिडको के भूखंड सौदे में बड़ा घोटाला : कांग्रेस

0
1946
सोमवार को मुंबई प्रदेश कांग्रेस के प्रेस कांफ्रेंस में पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, मुंबई प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला.

1767 करोड़ की जमीन 3.60 करोड़ में दिला दी, फड़णवीस सरकार पर आरोप

मुंबई : नवी मुंबई में सिडको के भूमि सौदे मामले में कांग्रेस ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस और राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाया है. कांग्रेस ने बताया है कि सिडको के 1,767 करोड़ रुपए कीमत की 24 एकड़ भूमि को मात्र 3.60 करोड़ रुपए दिलाने में राज्य सरकार के कई मंत्रियों और उच्चाधिकारों की मिलीभगत से की गई है.

8 विस्थापित किसानों को नवी मुंबई विमानतल के निकट दी गई थी यह जमीन
मुंबई में आज सोमवार को कांग्रेस की प्रेस कांफ्रेंस में पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और मुंबई प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम उपस्थित थे. निरुपम ने सरकार पर गंभीर आरोप मढ़ते हुए कहा कि कोयना परियोजना से विस्थापित 8 किसान परिवारों की नवी मुंबई विमानतल के निकट दी गई यह जमीन पैराडाइज बिल्डर्स के मनीष भतीजा और संजय भालेराव को 15 लाख रुपए प्रति एकड़ की दर से मात्र 24 एकड़ जमीन बिकवादी गई. उन्होंने कहा कि फड़णवीस सरकार के मंत्रियों और मंत्रालय के अधिकारियों की मिलीभगत से 3.60 करोड़ में उन किसान परिवारों से जबरदस्ती यह जमीन दिलवा दी गई. जबकि इस जमीन का बाजार मूल्य 1,767 करोड़ रुपए है.

सौदे की मंजूरी सिडको के बजाय तहसीलदार से दिलाई गई
उन्होंने बताया कि गंभीर मसाला यह भी है कि यह भूमि सिडको की थी. लेकिन इस भूमि के इस सौदे को रायगढ़ के तहसील कार्यालय से 26 फरवरी 2018 को मंजूरी दिलाई गई और सिडको की ओर से इस सौदे पर कोई आपत्ति भी नहीं की गई. उन्होंने कहा कि यह काम सरकार के राजस्व विभाग के और मुख्यमंत्री कार्यालय के हस्तक्षेप के बिना संभव नहीं हो सकता. निरुपम ने कहा कि इसके पीछे भाजपा के विधायक और मुख्यमंत्री के चहेते प्रसाद लाड के आशीर्वाद से ही संभव हुआ है. पूर्व सीएम पृथ्वीराज चव्हाण ने मामले की न्यायिक जांच की मांग की.

कांग्रेस द्वारा लगाए गए आरोप के मुख्य विंदू-
– 1767 करोड़ के भूखंड का सौदा मात्र 3. 60 करोड़ में कराया
– सर्वे नंबर 183/CD, रांजनपाड़ा, खारघर के भूखंड का सौदा
– एक ही दिन में किया गया भूमिअधिग्रहण और हस्तांतरण
– सिडको की भूमि को तहसीलदार को हस्तांतरण
– सिडको की ओर से कोई आपत्ति नहीं की गई
– जिस काम में डेढ़ वर्ष लगते हैं, वह एक दिन में संपन्न
– सिडको-नगरविकास और बिल्डर की मिलीभगत
– मनीष भतीजा, संजय भालेराव के नाम पर भूखंड की खरीद-बिक्री
– मनीष भतीजा है पैराडाइज बिल्डर का मालिक
– पैराडाइज बिल्डर पर सरकार का वरदहस्त
– सौदे में प्रसाद लाड की भी मिलीभगत

NO COMMENTS