प्रधानमंत्री मोदी की हत्या की साजिश में कोयंबटूर बम धमाके का दोषी गिरफ्तार

0
1372

सोशल मीडिया पर वायरल हुई बातचीत के ऑडियो क्लिप के आधार तमिलनाडु पुलिस की कार्रवाई

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने वाले एक शख्स को तमिलनाडु पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी इस संबंध में किसी कारोबारी के साथ फोन पर बातचीत कर रहा था. पुलिस ने इसके बाद सूचना मिलने पर कॉल रिकॉर्डिंग की ऑडियो क्लिपिंग निकलवाई और उसे सुना. इस क्लिप में कहा गया है कि पीएम को खत्म कर दो. पुलिस ने इसी आधार पर आरोपी शख्स को गिरफ्तार कर लिया है. यह विवादित क्लिपिंग सोशल मीडिया पर भी वायरल हुई थी.

आरोपी : कोयंबटूर के कुनियामुथुर का निवासी रफीक मोहम्मद रफीक
पुलिस के अनुसार आरोपी की पहचान कोयंबटूर के कुनियामुथुर निवासी रफीक मोहम्मद रफीक के रूप में हुई है. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, रफीक साल 1998 में कोयंबटूर बम धमाका मामले में दोषी पाया गया था. 15 दिनों के लिए उसे न्यायिक हिरासत में रखा गया था. पीएम मोदी की हत्या की साजिश रचने को लेकर उसने किसी प्रकाश नाम के कारोबारी से फोन पर बात की थी. फिलहाल, तमिलनाडु पुलिस उस संदिग्ध कारोबारी का पता लगाने के लिए जांच-पड़ताल कर रही है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार, सोशल मीडिया पर वायरल हुई ऑडियो क्लिप में रफीक और ट्रांसपोर्ट कॉन्ट्रैक्टर के बीच करीब आठ मिनट बातचीत हुई थी. दोनों के बीच शुरू में गाड़ियों को लेकर बात हो रही थी. मगर अचानक बम धमाकों के दोषी ने बोला, “हमने मोदी (पीएम) को खत्म करने का फैसला किया है. हम वहीं हैं, जिन्होंने 1998 में बम धमाके कराए थे. तब अडवाणी (लालकृष्ण आडवाणी) शहर में थे.”

ज्ञातव्य है कि कोयंबटूर में साल 1998 में कुछ बम धमाके हुए थे, जिसमें लगभग 58 लोगों की जान चली गई थी. करोड़ों रुपए की संपत्ति का भी नुकसान हुआ था. पुलिस ने बताया, “ऑडियो में बातचीत के दौरान रफीक कॉन्ट्रैक्टर से कह रहा था कि उसके खिलाफ कई मुकदमे हैं और वह 100 से अधिक वाहनों को नुकसान पहुंचा चुका है.”

कोयंबटूर पुलिस ने इसके लिए एक विशेष टीम का गठन किया है, जो इस ऑडियो में सुनाई दे रही आवाजों की जांच करेगी. रफीक को इसी बातचीत के आधार पर कोयंबटूर पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

NO COMMENTS