प्रधानमंत्री मोदी एक बार फिर वैश्विक रेटिंग में शीर्ष पर

0
875
प्रधानमंत्री मोदी

विश्व के शीर्ष नेताओं की लोकप्रियता पर नजर रखने वाली संस्था ‘मॉर्निंग कंसल्ट’ का ताजा सर्वेक्षण

 
नई दिल्ली : वैश्विक स्तर पर दुनिया के सत्ताधारी शीर्ष नेताओं की लोकप्रियता पर नजर रखने वाली संस्था ‘मॉर्निंग कंसल्ट’ के ताजा सर्वेक्षण के अनुसार, 75 प्रतिशत की अनुमोदन रेटिंग के साथ भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर वैश्विक रेटिंग में शीर्ष पर हैं.


पीएम मोदी के बाद मेक्सिको के राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओब्राडोर और इटली के प्रधानमंत्री ड्रागी क्रमशः 63 फीसदी और 54 फीसदी रेटिंग के साथ क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे.

22 विश्व नेताओं की सूची में अमेरिकी राष्ट्रपति को 41 प्रतिशत रेटिंग के साथ पांचवें स्थान पर रखा गया है. बाइडेन के बाद कनाडा के राष्ट्रपति ट्रुडो 39 प्रतिशत और जापानी प्रधानमंत्री किशिदा 38 प्रतिशत पर हैं.

‘मॉर्निंग कंसल्ट’ पॉलिटिकल इंटेलिजेंस वर्तमान में ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, ब्राजील, जर्मनी, भारत, मैक्सिको, नीदरलैंड, दक्षिण कोरिया, स्पेन, स्वीडन में सरकारी नेताओं और देश के प्रक्षेपवक्र (Trajectories) की अनुमोदन रेटिंग पर नजर रखता रहा है.

इस बार भी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेताओं के सर्वेक्षण की सूची में नरेंद्र मोदी सबसे 75% रेटिंग के साथ ऊपर हैं. इससे पहले जनवरी 2022 और नवंबर 2021 के सर्वेक्षण में भी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेताओं की सूची में प्रधानमंत्री मोदी शीर्ष पर थे.

यह मंच राजनीतिक चुनावों, निर्वाचित अधिकारियों और मतदान के मुद्दों पर रीयल-टाइम मतदान डेटा प्रदान करता है. मॉर्निंग कंसल्ट प्रतिदिन 20,000 से अधिक वैश्विक साक्षात्कार (Interview) आयोजित करता है. वैश्विक नेता और देश प्रक्षेपवक्र डेटा किसी दिए गए देश में सभी वयस्कों के सात-दिवसीय चलती औसत पर आधारित है, जिसमें त्रुटि का अंतर +/- 1-4 प्रतिशत के बीच है.

संयुक्त राज्य अमेरिका में, सर्वेक्षण का औसत नमूना आकार लगभग 45,000 है. अन्य देशों में, नमूने का आकार लगभग 500-5,000 के बीच होता है. वयस्कों के राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिनिधि नमूनों के बीच सभी साक्षात्कार ऑनलाइन आयोजित किए जाते हैं.

भारत में किए गए सर्वेक्षण में साक्षर आबादी का ही प्रतिनिधित्व है. हर देश में उम्र, लिंग, क्षेत्र और कुछ देशों में आधिकारिक सरकारी स्रोतों के आधार पर और  शिक्षा के आधार पर भी सर्वेक्षणों को महत्व दिया जाता है. संयुक्त राज्य अमेरिका में, सर्वेक्षणों को नस्ल और जातीयता के आधार पर भी महत्व दिया जाता है.
 
साक्षात्कार में उत्तरदाता इन सर्वेक्षणों को अपने देशों के लिए उपयुक्त भाषाओं में पूरा करते हैं.

NO COMMENTS