धनबाद के जज का हत्यारा समेत तीन गिरफ्तार

0
651
धनबाद

*डी.एस. सिन्हा/वरुण कुमार-
धनबाद/रांची (झारखंड) :
मॉर्निंग वॉक पर निकले जिला व सत्र न्यायाधीश-8 उत्तम आनंद की हत्या मामले में धनबाद पुलिस हरकत में आई और हत्या में शामिल ऑटो चालक और उसके सहयोगी लखन वर्मा और राहुल वर्मा को गिरिडीह से गिरफ्तार कर लिया है. ये दोनों जोड़ापोखर थाना क्षेत्र के डिगवाडीह 12 नंबर के रहने वाले हैं. इस दौरान पुलिस ने ऑटो को भी जब्त कर लिया है.

घटना के CCTV की जांच में साफ-साफ नजर आ रहा है कि न्यायाधीश, रणधीर वर्मा चौक की ओर से हीरापुर सब स्टेशन की ओर आ रहे थे. वह सड़क के किनारे जॉगिंग कर रहे थे. उसी वक्त पीछे से आ रहा एक ऑटो बीच सड़क से हटकर किनारे न्यायाधीश की तरफ आया और पीछे से उन्हें टक्कर मार कर सीधा रास्ता पकड़ कर पुलिस लाइन की ओर भाग निकला.

बता दें कि धनबाद के एडीजे उत्तम आनंद हर दिन की तरह बुधवार को भी मॉर्निंग वॉक पर निकले थे. रणधीर वर्मा चौक के पास पीछे से जा रहे ऑटो ने उन्हें टक्कर मार दी. इससे वह सड़क पर गिर पड़े. वहां से गुजर रहे लोगों ने आनन-फानन में उन्हें शहीद निर्मल महतो मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (SNMMCH) पहुंचाया. जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

सुबह 7 बजे तक जब वह घर नहीं पहुंचे, तो उनके परिवार वालों ने खोज शुरू की. इसके बाद पता चला कि सड़क दुर्घटना के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां उनकी मौत हो गई है. दुर्घटना की सूचना पर जिला के लगभग सभी न्यायिक पदाधिकारी अस्पताल पहुंचे. न्यायाधीश उत्तम आनंद ने 6 माह पूर्व ही धनबाद में योगदान दिया था. इससे पहले वह बोकारो जिला में पदस्थापित थे.

झारखंड की राजधानी रांची से ‘विदर्भ आपला’ संवाददाता के अनुसार पुलिस मुख्यालय के प्रवक्ता ए.वी. होमकर ने कहा कि सिटी एसपी राम कुमार के नेतृत्व में एसआईटी गठित कर दी गई है. वहीं, पूरी टीम को खुद धनबाद एसएसपी संजीव कुमार लीड कर रहे हैं, जबकि बोकारो रेंज डीआइजी कन्हैया मयूर पटेल धनबाद पहुंच घटना को लेकर चल रही जांच की बारीकी से मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

डीजीपी नीरज सिन्हा के निर्देश पर रांची से फोरेंसिक और सीआईडी टीम को जांच में सहयोग के लिए धनबाद भेजा गया है. तकनीकी साक्ष्य के लिए घटनास्थल और आसपास के सीसीटीवी का फुटेज पुलिस एकत्र कर रही है. इसके अलावा अन्य तकनीकी साक्ष्य भी जुटाए जा रहे हैं.

इधर, झारखंड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डॉ. रवि रंजन की पीठ ने मामले पर स्वतः संज्ञान लेते हुए धनबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को आज गुरुवार को ही कोर्ट में उपस्थित होने का आदेश दिया है.

वहीं सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विकास सिंह ने आज (गुरुवार) सुबह इस चौंकाने वाली घटना को सुप्रीम कोर्ट के ध्यान में लाया है. उन्होंने इस घटनाक्रम की सीबीआई जांच की मांग की. भारत के मुख्य न्यायाधीश ने विकास सिंह को सूचित किया कि झारखंड हाईकोर्ट ने मामला को उठाया है.

जज उत्तम आनंद के परिवार में सभी हैं वकील
न्यायाधीश उत्तम आनंद के पिता अधिवक्ता सदानंद प्रसाद हजारीबाग शिवपुरी मुहल्ले में रहते हैं. उत्तम आनंद के दो भाई और दो बहन हैं. छोटे भाई भी अधिवक्ता सुमन आनंद हैं. बहन ज्योति आनंद रांची में और एक बहन दीप्ति आनंद हैं. उत्तम के दोनों बहनोई भी अधिवक्ता हैं. उत्तम आनंद की पत्नी कीर्ति सिन्हा पटना की रहने वाली हैं. उन्होंने भी लॉ की पढ़ाई पूरी की है. उत्तम का पूरा परिवार वकालत के पेशा से जुड़ा हुआ है. उत्तम आनंद की पत्नी कीर्ति आनंद हजारीबाग बार एसोसिएशन की सदस्य भी हैं.

NO COMMENTS