‘विश्व का सबसे लम्बा गायन स्पर्द्धा’ का ऑडिशन अमरावती में 6 को

0
151
गायन

अमरावती के गायकों को भी मिलेगा विश्व रेकॉर्ड का हिस्सा होने का सुनहरा मौका

अमरावती : राष्ट्रीय कर्तव्य पालन के लिए विभिन्न सामाजिक उपक्रमों के प्रचार और प्रसार के लिए समर्पित विराग मधुमालती एवं टीम द्वारा ‘विश्व का सबसे लम्बा कराओके गायन स्पर्द्धा का विश्वविक्रमी मैराथन’ – (“World’s Longest singing Marathon Guinness World Record”), करने का संकल्प किया गया है.

इस के लिए रविवार, 6 अक्टूबर को विराग मधुमालती और टीम ऑडिशन लेने वाले हैं. यह ऑडिशन मिशन देशभक्त डिफेन्स पेरामेलट्री ॲकेडेमी, सिटी सेंटर काम्प्लेक्स, 202 दूसरा माला, पंचवटी चौक, अमरावती में भी संपन्न होगा.
गायन 
“विश्व का सबसे लम्बा गायकी का विश्वविक्रमी मैराथन स्पर्द्धा” अगले माह से 9 नवंबर से 21 दिसंबर तक नवी मुम्बई के खारघर स्थित ‘लिटिल वर्ल्ड मॉल’ में होने जा रहा है. यह मौका गायक कलाकारों के लिए एक सुनहरा अवसर हो सकता है.

विराग मधुमालती व उनकी टीम राष्ट्रीय कर्तव्य पालन को समर्पित अवयवदान जनजागृति, बेटी बचाओ–बेटी पढ़ाओ, स्टॉप ग्लोबल वार्मिंग, कैंपस विथ हेलमेट, सेव वॉटर-सेव ट्रीज, रक्तदान जैसे ज्वलंत सामाजिक उपक्रमों को बढ़ावा देने और लोगों में इन सभी विषयों के प्रति जागरूकता लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं.  

अभी कराओके गायन के लिए दुनिया का सबसे बड़ा रिकॉर्ड (792 घंटों का) चीन के नाम है और विराग मधुमालती ने 1000 घंटों का नया विश्व रिकॉर्ड को बनाने का फैसला किया है. विराग का कहना है कि 42 दिनों के इस गायन कार्यक्रम में से प्रत्येक7 दिन उपरोक्त गतिविधियों में से हर एक उपक्रम के लिए समर्पित होंगे. देश के विभिन्न हिस्सों से गायकों को इस विश्व रिकॉर्ड के लिए चुना जा रहा है. इस स्पर्द्धा में 10 से 70 वर्ष की आयु के कोई भी गायक भाग ले सकते हैं.

सभी गायक कलाकारों के लिए विश्व के इस सबसे बड़े संगीत महोत्सव में गाने का स्वर्ण अवसर है यह प्रतिपादन आयोजक एवं विश्वविक्रमी गायक विराग मधुमालती ने किया है. यह “अखंड संगीत यज्ञ” एक ऐतिहासिक संगीत उत्सव होगा, जिसमें लगभग 18,000 से 20,000 गाने गाए जाएंगे.

गायकी के इस महाकुम्भ में विविधता में एकता का दर्शन होने जा रहा है. गायक विविध भाषाओं में गाने गा सकेंगे. उम्मीद है कि खारघर के लिटिल वर्ल्ड मॉल में लगभग 8 से 9 लाख लोगों का जनसमूह इस संगीत महाकुम्भ का आनंद लेने पहुंचेगा. आगामी माह के 9 नवंबर से 21 दिसंबर 42 दिनों के दौरान यह विश्व रिकॉर्ड बनाया जाएगा. इसके अलावा, इस ऐतिहासिक कार्यक्रम के दौरान नेत्रदान और अवयव दान के लिए भी  लोगों से शपथ दिलवाई जाएगी. यह नया विश्व रिकॉर्ड निश्चित रूप से हमारे देश की संस्कृति को बढ़ावा देने और उपरोक्त ज्वलंत सामाजिक गतिविधियों के बारे में जागरूकता लाने में सफल होगा.

विराग मधुमालती ने अब तक चार विश्व विक्रम स्थापित करके देश की एकता व नेत्रदान की जनजागृति के लिए समर्पित किए हैं. दिव्यांग मित्रों की पीड़ा को महसूस करने के लिए विराग ने अपनी जान जोखिम में डाल कर 100 दिनों तक अपनी आंखों पर पट्टी बांधी और इस दौरान, समाज में नेत्रदान जनजागृति के लिए कई कार्यक्रम किेए.

सुप्रसिद्ध गायक सुरेश वाडकर, पार्श्वगायिका साधना सरगम, अभिनेत्री अलका कुबल तथा महाराष्ट्र के सांकृतिक मंत्री विनोद तावड़े ने इस नए विश्व विक्रम के प्रति अपने मनोगत व्यक्त करते हुए सन्देश दिया है कि देश के गायक कलाकारों के लिए यह एक सुनहरा अवसर है, इसलिए ज्यादा से ज्यादा गायकों को इसमें जरूर भाग लेना चाहिए. यह विश्व विक्रम नवी मुम्बई में स्थित खारघर के लिटिल वर्ल्ड मॉल में सम्पन्न होगा. इस दौरान कई पार्श्व गायक व सिने जगत के कई कलाकार उपस्थित रहेंगे.
 

NO COMMENTS