चुनाव परिणामों के संकेत देने लगे हैं सट्टेबाज, जानिए क्या है?

0
884
सट्टेबाज

मुंबई : लोकसभा चुनाव को लेकर सट्टा बाजार में इन दिनों गहमा-गहमी तेजी से बढ़ती जा रही है. खास कर मुंबई की सीटों पर सट्टेबाज जम कर सट्टा लगा रहे हैं. पिछले 23 अप्रैल को महाराष्ट्र के सभी 48 सीटों पर मतदान संपन्न हो चुके हैं. इसके साथ ही मुंबई महानगर की 6 सीटों के लिए भी सट्टेबाज सक्रीय हो गए हैं.

मुंबई की 6 में से 5 सीटों पर सट्टेबाज भाजपा पर बाजी लगा रहे हैं, वहीं एक सीट पर कांग्रेस सट्टेबाजों की पसंद बनी है. सट्टेबाज सीटों पर दांव लगाकर एक तरह से यह संकेत दे देते हैं कि किस-किस पार्टी का और कौन-कौन से उम्मीदवार का पलड़ा भारी है.

मुंबई के सट्टेबाजों के अनुसार दक्षिण मुंबई की सीट पर कांटे की टक्कर है. सट्टा खेलाने वालों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार लोकसभा चुनाव के इतिहास में सर्वाधिक रकम का सट्टा 2019 के इस लोकसभा चुनाव में ही लगाया गया है.

लोकसभा चुनाव को लेकर सट्टा बाजार में आई तेजी में देखा जा रहा है कि भाजपा सहित विभिन्न दलों पर भी करोड़ों रुपए का सट्टा लग चुका है. आज की स्थिति को देखते हुए सट्टा बाजार में भाजपा ही सट्टेबाजों की पहली पसंद बनी हुई है. देश भर और महाराष्ट्र में विभिन्न चरणों में हुए मतदान के साथ-साथ स्थिति में उतार-चढ़ाव भी देखा गया है.

चौथे चरण का मतदान संपन्न होने पर भाजपा को मुंबई की 6 में से 5 सीटों पर विजयी होने के संकेत सट्टेबाजों ने दे दिए हैं. लेकिन दक्षिण मुंबई में शिवसेना के उम्मीदवार अरविंद सावंत और कांग्रेस के मिलिंद देवरा के बीच कड़ी टक्कर के संकेत मिल रहे हैं. समझा जा रहा है कि यहां से जीत सेना की हो या कांग्रेस की, जीत के मतों का अंतर बहुत ही काम होगा.

सट्टा बाजार में जीतने वाले दल पर सट्टा लगाने वाले को 1000 रुपए के पीछे 500 रुपए का लाभ मिलेगा. वहीं हारने वाले पक्ष पर दांव लगाने वाले को 1000 पर 2000 रुपए का लाभ मिलेगा.

इसमें जिस पक्ष पर कम रकम लगाया जा रहा है, उसकी जीत सुनिश्चित मानी जाती है. इसके अनुसार उत्तर मुंबई के उम्मीदवार गोपाल शेट्टी पर सट्टा बाजार में 27 पैसे का सट्टा लगाया गया है. दूसरी ओर विरोधी पक्ष की कांग्रेस की उम्मीदवार अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर पर 3 रुपए का भाव लगाया गया है.

इसी तरह गजानन किर्तीकर 65 पैसे व संजय निरुपम 1 रुपया 10 पैसे, राहुल शेवाले 45 पैसे व एकनाथ गायकवाड़ 1 रुपए 60 पैसे, संजय दिना पाटिल 1 रुपए 17 पैसे व मनोज कोटक 70 पैसे, पूनम महाजन 55 पैसे व प्रिया दत्त 1 रुपया और अरविंद सावंत 54 पैसे व मिलिंद देवरा पर 52 पैसे का भाव लगने की जानकारी मिली है.

चुनावों के दौरान राजनीतिक स्थिति का सर्वाधिक अचूक अंदाज सट्टेबाज ही लगाते रहे हैं. मतदाता के मूड के साथ ही सट्टेबाजों का झुकाव भी बदलता है. डेढ़ वर्ष पूर्व गुजरात में भाजपा के सत्ता में लौटने का अचूक संकेत सट्टा बाजार ने पहले ही दे दिया था. इसी प्रकार छह महीने पूर्व पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव सट्टा बाजार का अंदाजा लगभग सटीक निकला था.

राजस्थान और मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के सही संकेत भी सट्टा बाजार से ही मिला था. लेकिन छत्तीसगढ़ में भाजपा के काफी कम अंतर से जीतने का उसका संकेत गलत निकला. वहां सट्टा बाजार चूक गया था.

NO COMMENTS