ब्रह्मोस जासूसी : ट्रांजिट रिमांड पर निशांत को लखनऊ ले गई उ.प्र. एटीएस

0
57
ट्रांजिट रिमांड मंजूर होने पर महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश एटीएस आरोपी निशांत अग्रवाल को कोर्ट से ले कर वापस एटीएस कार्यालय ले जाते हुए.

विपेन्द्र कुमार सिंह,
नागपुर :
नागपुर सेशंस कोर्ट ने उत्तर प्रदेश एटीएस को ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल से जुड़े सीक्रेट लीक करने और पाकिस्तान एवं अमेरिका के लिए जासूसी करने के आरोपी निशांत अग्रवाल की तीन दिन की ट्रांजिट रिमांड मंजूर की है. उसे महाराष्ट्र एटीएस ने आज मंगलवार, 9 अक्टूबर को दिन के 12 बजे यहां सेशन कोर्ट में पेश किया था.

निशांत को सोमवार, 8 अक्टूबर को पाकिस्तानी गुप्तचर एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. रिमांड मिलने के बाद उत्तर प्रदेश एटीएस निशांत को आज रात लखनऊ (यूपी) ले गई, जहां उससे आगे की पूछताछ की जाएगी.

निशांत के लैपटॉप और कम्प्यूटर से से ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल और उसमें इस्तेमाल किए जाने वाले वेपन के डिजाइन बरामद हुए हैं. आरोप है कि उसने ब्रह्मोस मिसाइल प्रॉजेक्ट से जुड़ी कई जानकारियां पाकिस्तान और अमेरिका की खुफिया एजेंसियों से साझा की हैं. सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों को डर है कि अगर ये डिजाइन पाकिस्तान को भेज गए हैं तो यह देश की सुरक्षा को लेकर बड़ा खतरा है.

जासूसी का आरोपी निशांत 31 जुलाई 2013 से ब्रह्मोस मिसाइल अनुसंधान केंद्र के तकनीकी डिविजन में काम कर रहा था. वह हाइड्रोलिक्स न्यूमैटिक्स ऐंड वॉरहेड इंट्रीगेशन (प्रॉडक्शन) का प्रमुख है. उसके नेतृत्व में 40 लोगों की टीम काम कर रही थी. उसके जिम्मे ब्रह्मोस नागपुर के अलावा पिलानी प्रॉजेक्ट का सुपरविजन भी था. ब्रह्मोस भारत और रूस का संयुक्त उद्यम है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY