कृषि मंत्री पांडुरंग फुंडकर नहीं रहे, हृदयाघात के बाद अस्पताल में थे भर्ती

0
398

प्रातः 4.35 बजे के.जे. सोमय्या अस्पताल में ली अंतिम सांस, अंतिम संस्कार होगा खामगांव में

मुंबई : कृषि मंत्री पांडुरंग फुंडकर का यहां के.जे. सोमय्या अस्पताल में आज प्रातः 4.35 पर उनका निधन हो गया. कल हुए हृदयाघात के बाद उन्हें सोमय्या अस्पताल में दाखिल कराया गया था.

तड़के दुबारा हुआ तेज हृदयाघात
पारिवारिक सूत्रों के अनुसार रात में उनकी हालत में काफी सुधार हुआ था. लेकिन आज ही तड़के फिर अचानक उन्हें हृदयाघात हुआ. डॉक्टर भी वहीं थे. लेकिन हृदयाघात इतना तेज था कि उनकी प्राणज्योति सभी के देखते-देखते बुझ गई.

अंतिम संस्कार खामगांव में
बुलढाणा जिले के खामगांव का प्रतिनिधित्व कर रहे स्व. फुंडकर का अंतिम संस्कार खामगांव में ही करने का निर्णय किया गया है. थोड़ी ही देर में उनका पार्थिव शरीर खामगांव के लिए विमान से रवाना किया जाएगा. खबर मिलते ही मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने सोमय्या अस्पताल पहुंचकर उनके पार्थिव का अंतिम दर्शन किया. फिलहाल उनका अंतिम दर्शन करने वालों का तांता लगा हुआ है.

राज्य में भाजपा को आगे बढ़ाया
पूर्व में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रहे फुंडकर जी ने स्व. गोपीनाथ मुंडे के साथ मिलकर राज्य में पार्टी को आगे बढ़ाने में बड़ा योगदान दिया था. कृषि मंत्री के रूप में उन्होंने हाल के दिनों में कृषि और किसानों से संबंधित अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिए. प्रसार माध्यमों से दूर रहकर काम करने वाले नेता के रूप में उनकी पहचान थी. भाऊसाहेब के प्रतिष्ठापूर्ण नाम से विख्यात फुंडकर जी को ग्रामीण परिवेश और कृषि के समस्या की व्यापक समझ थी. उनके निधन से भाजपा को बड़ा नुकसान हुआ है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY