क्राइम रिपोर्टर की मां और बेटी की नृशंस हत्या, संदिग्ध गिरफ्तार

0
243
संदिग्ध हत्यारे के शिव किराणा स्टोर के ऊपर का मकान, जहां उषा कांबले और उनकी पोती राशि की हत्या संदेह है.

नागपुर : उपराजधानी नागपुर में बेखौफ किए जा रहे अपराध के क्रम में आज रविवार, 18 फरवरी की सुबह एक ऐसी हृदय विदारक वारदात और जुड़ गई, जिसमें एक साथ दो ऐसी जानें गईं हैं, जिनमें एक उम्र के 60 वर्षों की दहलीज पार कर चुकी महिला हैं तो दूसरी डेढ़ वर्ष की नन्हीं सी उनकी पोती. कल शनिवार से लापता उनके शव आज सुबह दिघोरी के निकट ही उनके घर से 3 किलोमीटर दूर विहिरगांव रोड स्थित संजोबा हाईस्कूल के पीछे के नाले से बरामद हुए.

क्राइम रिपोर्टर कांबले की मां और बेटी थीं

ऐसी नृशंस हत्या की शिकार हैं स्थानीय ऑनलाइन न्यूज चैनल “नागपुरटुडे डॉट इन” के क्राइम रिपोर्टर रविकांत कांबले की मां उषा सेवकराव कांबले और बेटी राशि रविकांत कांबले. उषा कांबले अपनी पोती राशि को लेकर कल दिघोरी के पवनपुत्र कॉलोनी स्थित अपने घर से शाम को टहलने निकलीं थीं. लेकिन वापस नहीं लौटीं. दूसरे दिन आज सुबह दोनों की लाशें खून से लतपथ नाले से बरामद हुईं.कांबले

सदिग्ध किराणा दुकानदार, उसकी पत्नी, भाई हिरासत में

नागपुर पुलिस की अपराध शाखा पुलिस ने उन दोनों की हत्या के संदेह में उनके घर के पास के ही एक किराणा दूकानदार गणेश शाहू को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. शाहू के घर में उसके वाहन, वाश बेसिन, घर के भीतर की दीवार और सीलिंग फैन पर खून के छींटे पड़े मिले. उसका घर किराणा दूकान के ऊपर ही है. बाद में पुलिस शाहू के भाई और उसकी पत्नी को भी पूछताछ के लिए ले गई है.

दोनों की हत्या गला घोंट कर और काट कर की गई

पुलिस सूत्रों ने बताया कि राशि और उषा को पहले गला घोंट कर मारा गया, फिर उनका गला काट दिया गया है. समझा जाता है कि दोनों की हत्या पहले घर में ही की गई, बाद में रात में उनके शवों को बोरी में भर कर वाहन से 3 किलोमीटर दूर विहिरगांव रोड के नाले में फेंक दिया गया. पुलिस वारदात की पूरी घटना की जांचकर रही है.

संदिग्ध की मां ने उधार लिए थे पैसे

प्राप्त जानकारी के अनुसार उषा कांबले कॉलोनी महिलाओं के उसी बीसी ग्रुप की एक सदस्य थीं, जिसमें गणेश शाहू की मां गीता शाहू भी शामिल है. उषा से गीता ने पैसे उधार लिए थे. वह अपने पति शिवधरण के साथ किसी पारिवारिक समारोह में सूरत गई हुई है. बताया जाता है कि शनिवार की शाम उषा कांबले गणेश शाहू से अपने पैसे बारे में पूछताछ कर रही थी. इसी पर दोनों के बीच विवाद भी हुआ था.

किराणा दूकानदार से हुआ था विवाद

इस बात की तश्दीक शाहू के शिव किराणा स्टोर के पास के ही एक पंक्चर दूकानदार ने भी की है. उसने बताया कि उसने राशि और उसकी दादी (आजोबाई) को शनिवार की शाम शाहू के किराणा स्टोर से लगे उसके घर पर देखा था. समझा जाता है कि दोनों घर के अंदर ले जाई गईं, जहां उन्होंने कुछ संदिग्ध देखा, जिसके कारण उनकी गला दबा कर और गले को काट कर हत्या कर दी गई.

पुलिस सूत्रों ने यह भी बताया कि रात में जब रविकांत अपनी मां और बेटी की तलाश कर रहा था, तब शाहू उसके घर पर आया और बताया कि उसकी मां उसके दूकान पर शाम को आई थी, तब उसने उन्हें 7 हजार रुपए लौटा दिए थे, जो उसकी मां गीता ने उन्हें देने को कहा था.

फॉरेंसिक दल ने शाहू के घर से से खून के छीटों नमूने लिए

बाद में पुलिस का फॉरेंसिक दल ने शाहू के घर पहुंचकर उसके घर पर पड़े वाहन और अन्य स्थानों पर पड़े खून के छीटों के नमूने लिए. दल को खून से सना एक बोरा नाले के पास भी पड़ा मिला.

समझा जा रहा है कि यह वारदात गम्भीर दुश्मनी का परिणाम है. फिर भी अभी हत्या के पीछे वास्तविक कारणों का पता पुलिस के सामने गणेश शाहू, उसकी पत्नी और भाई द्वारा उगले जाने पर ही लग पाएगा. इस बीच कांबले के पड़ोसियों ने एक वृद्ध महिला और डेढ़ वर्ष की बच्ची की ऐसी नृशंस हत्या पर नाराजगी जताते हुए अपराधी को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग पुलिस से की है.

अंतिम संस्कार सोमवार को दिघोरी घाट पर

पत्रकार रविकांत कांबले की माता स्व. उषा सेवकराव कांबले और उनकी बेटी राशि का संस्कार सोमवार को दोपहर 12 बजे दिघोरी स्थित समशान घाट पर होगा. दोनों के शव आज दोपहर बाद पोस्टमार्टम के बाद कांबले परवार को सौंप दिया गया.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY