ट्रोलिंग : फड़णवीस की छवि बिगाड़ने के पीछे शिवसेना, एनसीपी?

0
881
ट्रोलिंग

नागपुर : सोशल मीडिया पर सक्रिय रहना अब भाजपा नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस के लिए भारी पड़ने लगा है. सोशल मीडिया पर अपने कमेंट्स पर आए दिन उनका ट्रोल होना उनके साथ-साथ पार्टी के लिए भी घातक साबित होने लगा है. जनसामान्य की नज़रों में अब वे हलके पड़ने लगे हैं. वैसे स्वयं फड़णवीस और उनके नजदीकी सूत्रों का मानना है कि यह सब शिवसेना और एनसीपी द्वारा फर्जी एकाउंट्स के माध्यम से किया जा रहा है.

ऐसी ट्रोलिंग के कारण उनकी यह दशा उनके समर्थकों के लिए तो शर्मिंदगी पैदा कर ही रही है, पार्टी के अनेक नेतागण भी परेशान हैं. अपने मुख्यमंत्रित्व काल में सबसे योग्य और डायनामिक माने जाने वाले फड़णवीस के लिए यह स्थिति उन्हें दिन ब दिन दयनीय बनाती जा रही है.

फड़णवीस के नजदीकी सूत्रों ने इस स्थिति को स्वीकार करते हुए माना है कि स्थिति बहुत ही बिगड़ती जा रही है. उन्होंने बताया कि इसके पीछे शिवसेना और एनसीपी का हाथ है. उन्होंने आरोप लगाया कि ये इन दोनों पार्टियों ने सोशल मीडिया का दुरुपयोग करते हुए भाजपा नेताओं के नाम पर अनेक फर्जी एकाउंट्स बना रखे हैं. फड़णवीस जब कभी सरकार की खामियों को लेकर कमेंट्स करते हैं, वे फर्जी एकाउंट के माध्यम से कमेंट्स डालते हैं और ट्रोल करना शुरू कर देते हैं.

यू-ट्यूब चैनल को दिए अपने इंटरव्यू में किया खुलासा
उन्होंने बताया कि फड़णवीस ने हाल ही में एक पॉपुलर यू-ट्यूब चैनल को दिए अपने इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया है. उन्होंने चैनल को बताया है कि देश में सबसे ज्यादा सोशल मीडिया पर भाजपा नेताओं के नाम से फेक एकाउंट्स कांग्रेस ने बना रखे हैं कांग्रेस के नक़्शे-कदम पर चलते हुए राज्य में सत्तारूढ़ महाविकास आघाड़ी की सरकार में कांग्रेस के साथ शामिल शिवसेना और एनसीपी ने भी अब फर्जी एकाउंट्स के माध्यम से ट्रोलिंग की यह ओछी राजनीति शुरू कर दी है. इसमें शिवसेना से अधिक एनसीपी ने फर्जी एकाउंट्स बनाए हैं. और वह उनके विरुद्ध बहुत अधिक सक्रिय है. वह बहुत ही विद्वेषात्मक कमेंट्स प्रस्तुत कर उस पर ट्रोल करना शुरू कर देता है.

चैनल द्वारा यह पूछे जाने पर कि उनके ऐसे आक्रामक और विध्वंसकारी ट्रोलिंग का काउंटर वे किस प्रकार कर रहे हैं, जवाब में फड़णवीस ने कहा कि धीरे-धीरे लोगों को पता चलने लगा है कि शिवसेना और एनसीपी कैसी घिनौनी राजनीति कर रहे हैं. उन्होंने कहाकि अब पार्टी के लोग और उनके समर्थकों को भी एनसीपी और शिवसेना के इस खेल का पता चल रहा है. इसलिए उन्हें काउंटर करने की जरूरत अब मुझे नहीं नजर आती.

NO COMMENTS