दीप्ति नवल वेलेंटाइन डे पर फिर दे रही हैं दस्तक

0
154
दीप्ति नवल

वेब सीरीज : ‘पवन एंड पूजा’ तीन अलग-अलग जोड़ियों की कहानी

*जीवंत के. शरण,
रोमांटिक कॉमेडी फिल्म ‘चश्मे बद्दूर’… जी हां, अस्सी के दशक की यह दीप्ति नवल की बेहद चर्चित फिल्म थी. इसमें वे वाशिंग पाउडर बेचने वाली सेल्सगर्ल के किरदार में थी. फिल्म में उनका किरदार ‘मिस चमको’ खूब दर्शकों को भाया था. वही दीप्ति नवल इस वेलेंटाइन डे पर एक वेब सीरीज ‘पवन एंड पूजा’ में महेश मांजरेकर के साथ एक अलग अंदाज में नजर आने वाली हैं.

रिलेशनशिप ड्रामा सीरीज में तीन अलग-अलग जोड़ियों की कहानी के साथ यह शो आगे बढ़ेगा. इन तीनों कपल का नाम पवन और पूजा है.

दाम्पत्य जीवन में उम्र के बढ़ने के साथ प्यार का अंदाज भी बदलते जाता है. शो में पवन और पूजा के चालीस साल के वैवाहिक जीवन यात्रा को बेहद प्रभावी तरीके से परोसा गया है. इस तरह के किरदार को अपने सजीव अभिनय से बेहद ऊंचाई पर ले जाने के लिए जाने जाते हैं, दीप्ति नवल और महेश मांजरेकर.

फिल्मों से लगभग ओझल हो चुकी दीप्ति नवल की पहचान एक संवेदनशील अदाकारा के रूप में रही है. न्यूयॉर्क में उनके पिता यूनिवर्सिटी में पढ़ाते थे. दीप्त‍ि एक्टिंग के साथ पेंटिंग का भी शौक रखती थी. साल 1978 में उनकी पहली फिल्म ‘जुनून’ आई. अस्सी के दशक में सुरेश ओबेरॉय के साथ फिल्म ‘एक बार फिर’ के बाद उनका सितारा चमक उठा. उनकी सबसे ज्यादा चर्चित फिल्में फारुख शेख के साथ रही है. ‘चश्मे बद्दूर’ के अलावा ‘कथा’, ‘साथ-साथ’ फिल्मों को भी काफी पसंद किया गया.  

1985 में फिल्मकार प्रकाश झा की फिल्म ‘दामुल’ में भी दीप्ति नवल की अदाकारी को खूब पसंद किया गया. इसी फिल्म के बाद दीप्ति ने प्रकाश झा के साथ व्याह रचा लिया. हालांकि तकरीबन सतरह साल के बाद दोनों अलग हो गए. दोनों की गोद ली हुई एक बेटी है. उसका नाम दिशा है. वह संगीत में अपना करियर बना रही है.

ऐसी है ‘पवन एंड पूजा’ की कहानी…
निजी जिंदगी में लंबे उतार चढ़ाव को जीने के बाद उससे मिलते जुलते हुए किरदार को अंजाम देना बेहद रोमांचक होता है. वेब सीरीज ‘पवन एंड पूजा’ की कहानी में पवन कालरा (महेश मांजरेकर) और पूजा  (दीप्ति नवल) की शादी होती है. चालीस साल के वैवाहिक जीवन में पूजा हमेशा पति की ताकत बन कर साथ रहती है. दोनों के रिश्ते की नींव विश्वास और आपसी समझ है. इनकी खुशहाल जिंदगी में एक बेटा है. पिता और बेटे के मध्य दोस्तों जैसा रिश्ता है. पिता की सहजता के कारण बेटा अपनी तमाम बातें जरूर शेयर करता है. परिवार का मुखिया पवन तमन्नाओं को पूरा करने के लिए एक ‘पछतावा सूची’ बनाता है. ताकि, उसे इसी जिंदगी में पूरी कर ले. अन्यथा मरने पर ये पछतावा होगा कि ये पूरा नहीं किया, वो अधूरा रह गया.

फिल्म ‘हिचकी’ के निर्देशक रह चुके सिद्धार्थ पी मल्होत्रा और शाद अली ने कहानी लिखी है. निर्देशन शाद अली तथा अजय भुयान का है. सिद्धार्थ और शाद अली को रोजमर्रा की छोटी-छोटी उलझन भरी बातों को सुलझाने में माहिर माना जाता है. वेलेंटाइन डे पर दस्तक देने वाली मैक्स प्लेयर की इस वेब सीरीज को दर्शक जरूर देखना चाहेंगे.

रिलेशनशिप बेस्ड ड्रामा में तीनों कपल को जिंदगी के अलग अलग मुकाम पर एहसास होता है कि उनका प्यार वास्तव में शर्तो पर आधारित है, टूटने की कगार पर और थोड़ा संदिग्ध है. तीनों कपल के बदलते रिश्ते को बड़े ही शाफगोई से परिभाषित किया गया है. शरमन जोशी, गुलपनाग, तारूक और नताशा भारद्वाज अभिनीत इस वेब सीरीज को MX प्लेयर पर बिना शुल्क के देखा जा सकता है.

NO COMMENTS