देशद्रोह के लिए उकसाकर शरजील फरार, भाई हिरासत में

0
253
देशद्रोह

अलीगढ़,असम और दिल्ली में देशद्रोह व दंगा भड़काने की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज

 
नई दिल्ली : CAA और NPR के विरुद्ध असम तोड़ने का बयान देकर देशद्रोह के आरोप का सामना कर रहे जेएनयू के छात्र शरजील इमाम के भाई को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है, जबकि फरार शरजील की तलाश की जा रही है.

शरजील की गिरफ्तारी में जुटी पुलिस की जांच में सामने आया है कि शरजील का मोबाइल 25 जनवरी की शाम को पटना में बंद हुआ था. इसके बाद से उसका कोई पता नहीं है. दिल्ली पुलिस की दो टीम बिहार, दो दिल्ली और एक टीम मुंबई में उसकी तलाश कर रही है. खबर लिखे जाने तक पुलिस टीम ने शरजील के परिजनों से पूछताछ शुरू कर दी थी, लेकिन पुलिस को उसके बारे में कोई सुराग नहीं मिला था.

एक समाचार एजेंसी के अनुसार बिहार पुलिस ने जहानाबाद जिले में के निवासी शरजील के घर पर छापा मारने के बाद उनके भाई को हिरासत में ले लिया. एजंसी ने ट्वीट किया है कि शरजील इमाम की तलाश में दिल्ली पुलिस ने सोमवार को पटना, मुंबई और दिल्ली में छापे मारे.

अलीगढ़ में दिया था भाषण
शरजील इमाम के खिलाफ नागरिकता कानून के विरोध में अलीगढ़ में एक विरोध प्रदर्शन में कथित भड़काऊ भाषण देने का आरोप है और उनके खिलाफ अलीगढ़ के अलावा असम और दिल्ली में देशद्रोह और दंगा भड़काने की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज किया गया है.

सोशल मीडिया में वायरल वीडियो में शरजील इमाम कहते दिखते हैं, “मेरी नज़र में आगे का प्लान हमारे सामने यह होना चाहिए कि हम लोग अपना एक इंटलेक्चुअल सेल बनाएं, जिसे गांधी, नेशन इन सब चीजों में लगाव न हो. आपको पता होना चाहिए कि 20वीं सदी का सबसे फासिस्ट लीडर गांधी खुद है. कांग्रेस को हिंदू पार्टी किसने बनाया?”

देशद्रोह
CAA और NPR के विरुद्ध देश के साथ बगावत के लिए उकसाने वाला एक बैनर. 

क्या कहा है शरजील ने..?
वीडियो में शरजील कहते नजर आते हैं, “लोग हमारे पास ऑर्गनाइज्ड हों तो हम हिंदुस्तान और नॉर्थ ईस्ट को परमानेंटली कट कर सकते हैं. परमानेंटली नहीं तो कम से कम एक-आध महीने के लिए तो कट कर ही सकते हैं. मतलब इतना मवाद डालो पटरियों और सड़कों पर कि उन्हें हटाने में ही एक महीना लगे.”

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने अपने ट्वीट के साथ ट्वीटर पर उस वीडियो की क्लीपिंग डाली है, जिसमें शरजील इमाम अलीगढ़ की मीटिंग में असम को देश से अलग करने की तजवीज सुझा रहा है. आइए देखें यह वीडियो –


वीडियो के मुताबिक, शरजील कहते हैं, “असम और इंडिया कटकर अलग हो जाएंगे. तभी ये हमारी बात सुनेंगे. असम में जो मुसलमानों का हाल है आपको पता है. सीएए लागू हो गया वहां. डिटेंशन कैंप में लोग डाले जा रहे हैं. वहां कत्ल-ए-आम चल रहा है. छह-आठ महीने में पता चला सारे बंगालियों को मार दिया, हिंदू हो या मुसलमान. अगर हमें असम की मदद करनी है तो असम का रास्ता बंद करना होगा.”

पूर्वोत्तर को भारत से जोड़ने वाले पतले से भूभाग जिसे ‘चिकन्स नेक’ कहा जाता है, शरजील उसका भी जिक्र करते दिखे. उन्होंने कहा, ”यहां मुसलमान अधिक संख्या में हैं और वे ऐसा कर सकते हैं.”

NO COMMENTS