10 बड़े बदलाव : रेल यात्रियों के लिए 1 जुलाई से

0
1552
बदलाव

नई दिल्ली : सोमवार, 1 जुलाई से रेलवे अपने कई नियम बदलने वाला है. वेटिंग लिस्ट, तत्काल, टाइम टेबल और कई अन्य क्षेत्रों में भी कई बदलाव किए गए हैं. यह नियम आज रात से ही लागू हो जाएंगे. रेलवे में सफर करने वालों के लिए ये जानकारियां बेहद महत्त्वपूर्ण हैं. आइए हम आपको बताते हैं कि 1 जुलाई से रेल यात्रा में किन-किन बदलावों से रुबरू होंगे आप.

एक निगाह 1 जुलाई से होने वाले बदलावों पर-

वेटिंग टिकट से मिलेगी मुक्ति
1. भारतीय रेलवे ने लोगों की यात्रा को और अधिक आरामदायक बनाने के लिए एक और बड़ा फैसला लिया है. 1 जुलाई से आपको वेटिंग लिस्ट का टिकट नहीं मिलेगा. रेलवे ने फैसला किया है कि अब लोगों को सिर्फ कंफर्म टिकट दिया जाएगा या फिर आरएसी टिकट दिया जाएगा. वेटिंग लिस्ट के टिकट के झंझट से अब मुक्ति मिल जाएगी.

बदलेगा तत्काल टिकट बुकिंग का समय
2. तत्काल टिकट बुकिंग का समय भी बदलेगा एसी कोच के लिए तत्काल टिकट बुक करने के समय में भी बदलाव कर दिया गया है. 1 जुलाई के बाद अगर आप एसी कोच के लिए तत्काल टिकट बुक करना चाहते हैं तो फिर आपको सुबह 10 बजे से 11 बजे के बीच में ही टिकट बुक करना होगा. वहीं दूसरी ओर स्लीपर कोच के लिए तत्काल टिकट बुक करने का समय पहले जैसा ही यानी सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे तक रहेगा.

तत्काल टिकट कैंसिल पर 50 फीसदी रिफंड मिलेगा
3. अभी तत्काल टिकट कैंसिल करवाने पर कोई रिफंड नहीं मिलता है. लेकिन 1 जुलाई से रेलवे के नियमों में बदलाव के बाद तत्काल टिकट कैंसिल करवाने पर 50 फीसदी का रिफंड मिलेगा.
बदलाव
4. साथ ही सुविधा ट्रेन के टिकट वापस करने पर पैसेंजर्स को 50 फीसदी भाड़ा वापस मिलेगा. इसके लिए एसी-2 पर 100 रुपए, एसी-3 पर 90 रुपए और स्लीपर पर 60 रुपए प्रति पैसेंजर्स की दर से रिफंड चार्ज काटा जाएगा.

जारी होगा कई भाषाओं में टिकट
5. अभी तक रेलवे की तरफ से सिर्फ अंग्रेजी भाषा में ही टिकट जारी किया जाता है. 1 जुलाई से एक नई व्यवस्था शुरू की जा रही है, जिसके तहत रेलवे यात्रियों को सिर्फ अंग्रेजी में ही नहीं, बल्कि अन्य कई भाषाओं में भी टिकट उपलब्ध कराएगा. इसके लिए पहले भाषा का चुनाव करना होगा.

राजधानी और शताब्दी में बढ़ेंगे कोच
6. राजधानी और शताब्दी में सफर करने वालों के लिए भी रेलवे तोहफा लेकर आ रहा है. रेलवे ने फैसला किया है कि इन ट्रेनों में कोच की संख्या बढ़ाई जाएगी, ताकि लोगों को टिकट लेने में दिक्कत का सामना न करना पड़े. साथ ही, रेलवे ने यह भी फैसला किया है कि इन दो प्रीमियम ट्रेनों में पेपरलेस वर्क कल्चर को लागू किया जाना चाहिए.

वेकअप कॉल-डेस्टिनेशन अलर्ट
7. ट्रेन में सोते समय सभी को इस बात की चिंता सताती है कि कहीं उनका स्टेशन निकल न जाए. अब इस बात के लिए किसी को भी परेशान होने कि जरूरत नहीं है. इस संबंध में रेलवे अब एक नई सुविधा दे रहा है. 139 पर फोन कर आप वेकअप कॉल-डेस्टिनेशन अलर्ट को एक्टिवेट कर सकते हैं. आपका स्टेशन आने पर रेलवे आपको फोन करके जगा देगा.

8. राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में बोगियों कि संख्या बढ़ा दी जाएगी. इसी के साथ इन दोनों ही ट्रेनों के टिकट अब सिर्फ मोबाइल पर मिलेंगे, यानी मेसेज खुद ब खुद मोबाइल पर आ जाएगा. कागज पर छपा हुआ टिकट नहीं मिलेगा.

9. रात के 10 बजे के बाद यात्रियों को टीटीई नींद से जगाने नहीं आएंगे, यानी सारे टिकट रात 10 बजे से पहले ही जांच लिए जाएंगे.

बदल जाएंगे टाइम टेबल
10. भारतीय रेलवे का टाइम-टेबल एक जुलाई से बदल जाएगा. इस दौरान कुछ ट्रेनों के समय में बदलाव किया जाएगा, नए स्टोपेज बनाए जाएंगे और कुछ ट्रेनों के फेरों में भी वृद्धि की जा सकती है . इसी सिलसिले में पूर्व मध्य रेलवे, मैसूर रेलवे डिवीजन और वाल्टेयर रेलवे डिवीजन ने भी सोमवार से कुछ ट्रेनों के आगमन और प्रस्थान के समय में मामूली बदलाव सहित अन्य फेरबदल किए हैं.

NO COMMENTS