आईएएस अधिकारी बन कर अमरावती लौटा अभिषेक धामणकर

0
484
अभिषेक धामणकर abhishek-dhamankar

राजकमल चौराहे पर जमकर आतिशबाजी, स्वागत में उमड़े शहरवासी

अमरावती : भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी बन कर अमरावती लौटे अभिषेक धामणकर का आज शनिवार की दोपहर शहरवासियों की ओर से जोरदार स्वागत किया गया.

गोंडवाना एक्सप्रेस से बडनेरा स्टेशन पर उतरे महाजनपुरा निवासी अभिषेक महेंद्र धामणकर की शानदार अगवानी की गई. शहरवासियों ने राजकमल चौराहे पर जमकर आतिशबाजी भी की. लोगों ने अभिषेक को फूल मालाओं से लाद दिया.

राजकमल चौक पर अभिषेक का स्वागत, आतिशबाजी भी की
इस अवसर पर महापौर संजय नरवणे, मनपा पार्षद विलास इंगोले, अजय सारस्कर व दिनेश बूब सहित प्रा. डॉ. संजय तीरथकर, रविकांत कोल्हे, प्रा. रविंद्र खांडेकर, सीमा धामणकर, सुरेंद्र धामणकर, अश्विनी तायड़े, पूजा धामणकर, रोहित शिवणकर, रोहिणी शिवणकर, पल्लवी पांडे, साहिल धामणकर, गौरव धामणकर, महेंद्र धामणकर, मदन भिसेकर व ज्योति भिसेकर के साथ चित्रा चौक व गुप्ता मार्केट के सभी व्यापारियों ने भी राजकमल चौक पर अभिषेक का स्वागत किया.

बेहद विपरीत परिस्थितियों में मात्र 22 वर्ष की आयु में अभिषेक आईएएस अधिकारी बने. उसने मई 2017 में पुणे से अपनी इंजीनियरिंग की शिक्षा पूरी की. अभिषेक के सिर से बचपन में ही मां का साया हट गया था.

उसकी बड़ी मां माया धामणकर ने उसे पाला-पोसा. किंतु एक वर्ष पूर्व 3 नवंबर 2017 को, जब अभिषेक दिल्ली में रहकर यूपीएससी का अभ्यास कर रहा था, तभी उसकी बड़ी मां का साया भी उठ गया.

इस दारुण दुःख के बावजूद उसने हिम्मत नहीं हारी. अपनी बड़ी मां के सपने को पूरा करने में जुट गया. जी जान से पढ़ाई की. और वह आईएएस अधिकारी बनने में सफल रहा.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY