अनिल अंबानी फिर संकट में, अमेरिकी कंपनी के दावे का भुगतान करने में असमर्थ

0
108
https://vidarbhaapla.com/

दावा 230 करोड़ का, 144 बैंक खातों में बचे हैं 19.34 करोड़ रुपए, मामला दिल्ली हाईकोर्ट में

नई दिल्ली : बॉस्टन की कंपनी अमेरिकन टावर कॉर्प ने अनिल अंबानी की टेलीकॉम कंपनी आरकॉम पर करीब 230 करोड़ रुपए बकाए का दावा किया है. दूसरी ओर रिलायंस टेलिकॉम और उसकी यूनिट रिलायंस कम्यूनिकेशंस लि. के सभी 144 बैंक खातों में कुल मिलाकर 19.34 करोड़ रुपए बचे हैं. अमेरिकन टावर कॉर्प की ओर से दायर मुकदमें के सिलसिले में दिल्ली हाईकोर्ट को दी गई ऐफिडेविट में दोनों कंपनियों ने अपना-अपना पक्ष रखा है.

इकनॉमिक टाइम्स के अनुसार 46 हजार करोड़ रुपए के कर्ज में दबी अनिल अंबानी की इस कंपनी ने पिछले साल ही अपना वायरलेस बिजनस बंद किया था, क्योंकि उसका राजस्व लगातार घट रहा था और घाटे में वृद्धि होती जा रही थी. आरकॉम को इसी वर्ष दिवालिया प्रोसिडिंग्स में घसीटा जा रहा था, लेकिन वह बच थी. उसने दिल्ली हाई कोर्ट को अपने ऐफिडेविट्स में बताया है कि 119 बैंक खातों में उसके 17.86 करोड़ रुपए हैं, जबकि उसकी सब्सिडियरी कंपनी आरटीएल ने कहा कि उसके 25 बैंक खातों में 1.48 करोड़ रुपए के आसपास जमा हैं.

दोनों कंपनियों ने अक्टूबर में अपनी-अपनी ऐफिडेविट जमा करते हुए बैंक स्टेमेंट्स मुहैया कराने के लिए कोर्ट से मोहलत मांगी थी. अगली सुनवाई 13 दिसंबर को होगी. मामले से वाकिफ एक व्यक्ति ने इकनॉमिक टाइम्स को बताया कि टावर कंपनी ने आरकॉम और आरटीएल पर एग्जिट फी और सर्विस चार्जेज के रूप में करीब 230 करोड़ रुपए का दावा ठोंक रखा है. उसके मुताबिक, आरकॉम ने दिसंबर महीने में वायरलेस सर्विसेज रोक दी थी, इसलिए उसे टावर लीज अग्रीमेंट से हटने के लिए भुगतान देने होंगे.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY