‘भारत माता की जय’ कहने के लिए फारूक अब्दुल्ला हुए हंगामें का शिकार

0
149

ईद-उल-अजहा का नमाज भी अता नहीं करने दी, धक्का-मुक्की की, उछाले जूते

नई दिल्ली : ईद के मौक पर आज बुधवार को श्रीनगर में पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला हंगामें का शिकार हो गए. वहां की एक मस्जिद में उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा. ज्ञातव्य है कि फारूक अब्दुल्ला ने पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की श्रद्धांजलि सभा में उपस्थित लोगों से ‘भारत माता की जय’ के नारे लगवाए थे.

प्राप्त जानकारी के अनुसार आज वे ईद-उल-अजहा के मौके पर नमाज में हिस्सा लेने पहुंचे थे, यहां न सिर्फ उनके खिलाफ नारे लगाए गए, बल्कि उनके साथ धक्का-मुक्की भी की गई तथा जूते भी दिखाए गए. लेकिन इन सबके बीच वे चुपचाप अपनी जगह पर बैठे रहे. हालांकि अब उन्होंने इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है- ‘मैं डरने वाला नहीं हूं. अगर ये समझाते हैं कि इससे आजादी आएगी तो मैंने इनको कहना चाहता हूं कि पहले बेगारी, बीमारी और भूखमरी से आजादी पाओ.’

ईद-उल-अजहा के मौके पर हजरतबल मस्जिद में अब्दुल्ला के अलावा स्थानीय लोग सैकड़ों की संख्या में इकट्ठा हुए थे. इससे पहले कि नमाज शुरू होती और इमाम लोगों को संबोधित करते अचानक लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया और फारूक के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. थोड़ी ही देर में धक्का-मुक्की भी शुरू हो गई.

ऐसे में अबदुल्ला को बिना नमाज अता किए ही वापस लौटना पड़ा. कुछ लोगों ने मौजूद लोगों ने उनके खिलाफ नारे लगाए तो वहीं कुछ ने जूते भी उछाले. मौजूद लोगों ने डा फारूक से मस्जिद से चले जाने को कहां.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY