पाकिस्तान कुलभूषण जाधव को जासूस साबित करने पर आमादा

0
159

नई दिल्ली : कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान जासूस साबित करने पर आमादा है. उसने अंतरराष्टीय न्यायालय (आईसीजे) में इस सन्दर्भ में अपनी याचिका दायर करने की तैयारी शुरू कर दी है. जाधव पाकिस्तान की जेल में बंद हैं और उन्हें वहां की आर्मी कोर्ट की तरफ से जासूसी के आरोप में मौत की सजा सुनाई गई है.

ज्ञातव्य है कि भारतीय नौसेना के रिटायर अधिकारी जाधव को पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने मार्च 2016 में बलूचिस्तान से पकड़ा था. इसके बाद आर्मी कोर्ट में उसके खिलाफ मुकदमा चलाया गया था. इसमें जाधव को जासूसी और विध्वंसक गतिविधियों के आरोप में मौत की सजा सुनाई थी.

आईसीजे ने पाकिस्तान से कहा है कि वह अपनी दलील पर कोर्ट के सामने 13 दिसंबर या उससे पहले लिखित जवाब दे, जिससे अदालत आगे की कार्यवाही शुरू कर सके. पाकिस्तानी विदेश कार्यालय के अटॉर्नी जनरल अश्तर औसफ अली ने शुक्रवार को विदेश मंत्रालय के कानून विशेषज्ञों, अधिकारियों और संबधित विभागों के अधिकारियों की एक बैठक की अध्यक्षता की. इसके साथ ही इंटरनेशनल कोर्ट में बहस की दलीलों पर चर्चा की.

बैठक के बाद बताया गया, ‘‘हम पूरी शक्ति से अपनी स्थिति का बचाव करेंगे, जो इस तथ्य पर आधारित है कि जाधव एक भारतीय जासूस है, जिसे पाकिस्तान में जासूसी और विध्वंसक गतिविधियों का जिम्मा सौंपा गया था.’’

इधर अटॉर्नी जनरल औसफ ने पाकिस्तानी अखबार डॉन को बताया है कि उन्होंने स्थिति की समीक्षा करने के लिए साप्ताहिक बैठकें करने का फैसला लिया है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY