गैंगरेप पीड़िता ने आरोपियों को कमरे में किया बंद, मोबाइल ले भागी

'... इतना ही नहीं, उसको जबरदस्ती शराब भी पिलाई गई और अप्राकृतिक संबंध बनाए गए.सुबह जब पीड़िता की आंख खुली तो उसने दोनों आरोपियों को सोता हुआ देखा. मौके का फायदा उठा कर पीड़िता आरोपियों को कमरे में बंद कर वहां से भाग निकली...'

0
56

नागपुर : संतरा नगरी नागपुर से गैंगरेप की एक ऐसी घटना सामने आई है, जिसमें 18 साल की लड़की ने समझदारी का परिचय देते हुए आरोपियों को पकड़वाने के लिए शहर की जरीपटका पुलिस को बड़ा सबूत उपलब्ध कराया है.

यह घटना शहर के जरीपटका क्षेत्र की शनिवार, 12 मई की है. जब पीड़िता रात 8 बजे ब्यूटी पार्लर क्लास से वापस घर लौट रही थी, तभी सलाम और श्रीबस नाम के दो लड़के उसे मसालटोली के नाले के पास मिले और घर पहुंचाने की बात कर उसके मुंह पर पट्टी बांध कर जबरन कामठी नाका नं. 2 के एक किराए के घर में ले गए. जहां उन्होंने उसके साथ गैंगरेप किया गया. इतना ही नहीं, उसको जबरदस्ती शराब भी पिलाई गई और अप्राकृतिक संबंध बनाए गए.

इसके बाद रात में सभी शराब के नशे में सो गए. रविवार सुबह जब पीड़िता की आंख खुली तो उसने दोनों आरोपियों को सोता हुआ देखा. मौके का फायदा उठा कर पीड़िता आरोपियों को कमरे में बंद कर वहां से भाग निकली. इसके साथ-साथ सबूत के तौर पर वो आरोपियों के फोन भी ले गई.

पीड़िता फर्स्ट ईयर की स्टूडेंट है. इसी के साथ वो एक ब्यूटी पार्लर में ब्यूटीशियन की ट्रेनिंग भी ले रही थी. पीड़िता ने बताया कि अगर सबूत के तौर पर उसके पास आरोपियों के फोन न होते तो शायद जरीपटका पुलिस उसकी शिकायत भी दर्ज नहीं करती. दोनों आरोपी इस वक्त फरार हैं. पुलिस पीड़िता की शिकायत भादंवि की धारा 366, 376(डी), 377, 342, 34 के तहत मामला दर्ज कर दोनों की तलाश में जुटी है. पुलिस के अनुसार आरोपियों पर और भी मामले दर्ज हैं.

आमतौर रेप जैसी घटना के बाद पीड़िता कुछ भी सोचने-समझने की स्थिति में नहीं होतीं, मगर इस मामले में पीड़िता की समझदारी मिसाल है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY