पृथ्वी से टकराने जा रहा है चीनी मानवरहित स्पेस लैब टीयांगोंग-1

0
191
File Photo.

नई दिल्ली : चीन ने आज मंगलवार को कहा है कि उसकी पहली मानवरहित स्पेस लैब (अंतरिक्ष प्रयोगशाला) टीयांगोंग-1 अगले कुछ महीनों में नियंत्रित स्थिति में पृथ्वी से टकराएगा. उसका दावा है कि इस टक्कर से पृथ्वी को कोई नुकसान नहीं होगा. अनुमान है कि यह कुछ महीनों में पृथ्वी से टकरा सकता है. यह खबर एक समाचार एजेंसी ‘आइएएनएस’ के हवाले से सामने आई है.

…बाकी बचे इसके टुकड़े प्रशांत महासागर में गिरेंगे

समाचार एजेंसी के अनुसार चीन की एकेडमी ऑफ स्पेस टेक्नोलॉजी के वरिष्ठ वैज्ञानिक झू जोंगपेंग ने यहां कहा, ‘वापस आते अंतरिक्ष प्रयोगशाला पर हमारी पैनी नजर है. धरती की कक्षा में प्रवेश करते ही इसका अधिकतर हिस्सा जल जाएगा. बाकी बचे इसके टुकड़े प्रशांत महासागर में गिरेंगे.’

उसका जहरीला रसायन कई देशों में लोगों को बना सकता है कैंसर का मरीज!

बताया गया है कि हाल में पश्चिमी देशों के मीडिया में ऐसी खबरें आई थीं कि चीन ने अपनी स्पेस लैब पर नियंत्रण खो दिया है. जल्द ही वह पृथ्वी से टकराएगा और उससे निकलने वाला जहरीला रसायन कई देशों में लोगों को कैंसर का मरीज बना सकता है. चीन ने 2011 में इस स्पेस लैब को अंतरिक्ष की कक्षा में भेजा था. अंतरिक्ष में स्थायी प्रयोगशाला स्थापित करने के प्रयासों में जुटे चीन के लिए इसे मील का पत्थर माना गया था.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY