LATEST ARTICLES

झप्पी नहीं, झटका दिया है पीएम को राहुल ने : शिवसेना

>भाजपा पर मास्टरस्ट्रोक करार दिया, सेना नेता संजय राउत की प्रतिक्रया नई दिल्ली : संसद के मॉनसून सत्र में शुक्रवार को सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भाषण पर तमाम दल अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. भाषण के दौरान राहुल गांधी के अलग-अलग तेवर और फिर अपनी सीट से उठकर प्रधानमंत्री को गले लगाना चर्चा का विषय बना हुआ है. बीजेपी ने जहां इसे संसद की गरिमा के खिलाफ बताया है तो कांग्रेस ने इसे राहुल का भाजपा पर मास्टरस्ट्रोक करार दिया है. बीजेपी के सहयोगी दल शिवसेना तो इसे प्रधानमंत्री के लिए झटका बताया है. शिवसेना नेता संजय राउत ने राहुल के भाषण पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'मुझे लगता है कि राहुल गांधी राजनीति की असली पाठशाला में जा चुके हैं. जिस तरह से मोदीजी को उन्होंने जादू की झप्पी लगाई, वो झप्पी नहीं थी, बल्कि मोदीजी के लिए झटका था.' राहुल एक परिपक्व नेता की तरह... शिवसेना नेता ने कहा कि राहुल गांधी ने सदन में जो सवाल उठाए हैं, वह केवल कांग्रेस के सवाल नहीं हैं, बल्कि पूरा देश आज प्रधानमंत्री से सवाल कर जवाब मांग रहा है. राहुल गांधी की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि राहुल आज एक परिपक्व नेता की तरह नजर आ रहे थे. हां, राहुल ने भूकंप मचा दिया राहुल गांधी के भाषण पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी के भाषण से निश्चित ही संसद में भूचाल खड़ा हो गया. साफ है कि राहुल ने जो कहा, वह करके दिखा दिया. उन्होंने ऐसा भाषण दिया जिससे सदन में भूकंप आ गया.

महाकवि नीरज का अंतिम संस्कार अलीगढ़ में होगा राजकीय सम्मान के साथ

सीएम योगी ने किया ऐलान, स्मृति में पुरष्कार की भी की घोषणा नई दिल्ली/लखनऊ : पद्मश्री और पद्मभूषण से सम्मानित मशहूर महाकवि और गीतकार गोपालदास 'नीरज' के निधन पर दु:ख प्रकट करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी अंतिम यात्रा राजकीय सम्मान के साथ निकाली जाएगी. मुख्यमंत्री ने इसके लिए आवश्यक निर्देश दे दिए हैं. अलीगढ़ ले जाया जाएगा पार्थिव शरीर प्राप्त जानकारी अनुसार नीरज जी के पार्थिव शरीर को शनिवार सुबह आगरा ले जाया जाएगा. वहां उनके चाहने वाले उनका अंतिम दर्शन करेंगे. इसके बाद पार्थिव शरीर को दोपहर बाद अलीगढ़ ले जाया जाएगा, जहां उनकी देह दान की जाएगी. इसके बाद उनका अंतिम संस्कार होगा. सीएम योगी का ऐलान : महाकवि की स्मृति में... सीएम योगी ने यह भी ऐलान किया कि यूपी सरकार की तरफ से महाकवि की याद में हर साल प्रदेश के पांच नवोदित कवियों को एक-एक लाख रुपए के नकद पुरस्कार, अंगवस्त्र और सम्मान पत्र दिए जाएंगे. ज्ञातव्य है कि गुरुवार, 19 जुलाई की शाम 7.50 बजे नीरज जी ने दिल्ली के एम्स में आखिरी सांस ली. वे 93 साल के थे. नीरज जी के निधन पर प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति से लेकर तमाम बड़ी हस्तियों ने दु:ख प्रकट किया. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी ट्वीट कर नीरज को श्रद्धांजलि दी. देहदान का संकल्प लिया था 2015 में महाकवि गोपालदास 'नीरज' ने 2015 में देहदान का संकल्प लिया था. वो चाहते थे कि मरने के बाद भी उनका शरीर समाज की सेवा करता रहे. महाकवि 'नीरज' ने कर्तव्य संस्था को देहदान के संकल्प से जुड़ा शपथ पत्र अक्टूबर 2015 में दिया था. साल 2010 में उन्होंने पहली बार इसकी इच्छा जाहिर की थी. देहदान की शपथ के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के एनॉटमी विभाग में प्रक्रिया भी शुरू कर दी थी.

राहुल की बचकानी हरकत : पीएम से गले मिले, फिर मारी आंख

प्रधानमंत्री को कांग्रेस अध्यक्ष की 'झप्पी' पर लोकसभा अध्यक्ष नाराज नई दिल्ली : लोकसभा में आज शुक्रवार को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपना भाषण खत्म कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गले मिले और फिर अपने स्थान पर वापस लौटते कर ज्योतिरादित्य सिंधिया की ओर देख मुस्कराते हुए आंख मारी. स्पीकर ने जताई नाराजगी सदन में इस प्रकार प्रधानमंत्री से जाकर गले मिलने की राहुल गांधी की बचकानी हरकत पर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने नाराजगी जताई है. लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि राहुल का रवैया हैरान करने वाला था. सदन की गरिमा होती है. पीएम कोई आम आदमी नहीं होता है. कांग्रेस अध्यक्ष का बर्ताव ठीक नहीं था. सदन में ऐसा ड्रामा देखकर मैं भी हैरान : सुमित्रा महाजन स्पीकर ने कहा, 'सदन में ऐसा ड्रामा देखकर मैं भी हैरान हो गई. पीएम पद की गरिमा होती है. नरेंद्र मोदी पीएम के तौर पर सदन में बैठे हुए थे. गले मिलने के बाद राहुल ने आंख मारी। यह हरकत भी गलत है.' लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, 'ये समझ लो कि सदन की गरिमा हमें ही रखनी होगी. कोई बाहर का आकर नहीं रखेगा. हमें बतौर सांसद भी अपनी गरिमा भी रखनी है. मैं चाहती हूं कि सबलोग प्रेम से रहें. मेरे दुश्मन नहीं हैं राहुल जी, बेटे जैसे हैं.' उन्होंने कहा कि किसी से गले मिलना गलत नहीं है, लेकिन सदन की गरिमा भी बनाए रखनी होती है. प्रधानमंत्री मोदी भी रह गए चकित उल्लेखनीय है कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान आज दोपहर सदन में एक अजब ही नजारा देखने को मिला. प्रधानमंत्री और भाजपा पर हमला बोलते-बोलते राहुल गांधी जाकर मोदी से गले मिल आए थे. अचानक से कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के इस हाव-भाव से एक पल के लिए प्रधानमंत्री मोदी भी चकित रह गए. इसके तुरंत बाद मोदी भी राहुल गांधी से हाथ मिलाते हुए उन्हें शुभकामना देते हुए नजर आए. हिंदू होने का मतलब बताया राहुल ने मोदी से गले मिलने के बाद राहुल गांधी ने कहा कि हिंदू होने का मतलब यही होता है. इसके बाद अपने स्थान पर लौटते हुए उन्होंने सांसद सिंधिया की ओर देख मुस्कराते हुए आंख मार दी. राहुल गांधी की एक और ऐसी हरकत पर पूरा सदन दंग रह गया. मुन्ना भाई की पप्पी-झप्पी नहीं चलेगी : हरसिमरत कौर हालांकि अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर ने इसपर तंज कसते हुए कहा कि यह संसद है, यहां मुन्ना भाई की पप्पी-झप्पी नहीं चलेगी. हरसिमरत कौर ने आगे कहा, 'अंदर सब ड्रामा था, जब मैंने उनका सारा ड्रामा देखा तो उसके बाद सदन स्थगन के दौरान उनकी तरफ देखकर मुस्कुरा कर मैंने पूछा कि हमको और पंजाबियों को नशा करने वाले, नशेड़ी बोलते हैं, आज कौन सा करके आए हैं. मैंने यह मुस्कुरा कर पूछा, मगर उन्हें समझ तो आई नहीं और सिर्फ मुस्कुराहट दिखी. मैंने एक बार फिर पूछा कि राहुल जी आज कौन सा करके आए हैं? मुझे क्या पता कि यह स्क्रिप्ट लिखी हुई थी, बॉलिवुड से लिखवाई थी, वह सीधे जाकर प्रधानमंत्री पर टूट पड़े.'

अगली मेगा भर्ती में मराठा समाज को 16 प्र.श. आरक्षण : मुख्यमंत्री

राज्य में 72 हजार मेगानियुक्तियां करने वाली है सरकार नागपुर : राज्य सरकार द्वारा की जाने वाली 72 हजार मेगानियुक्तियों में अब 16 प्रतिशत नियुक्तियां मराठा समाज के लिए आरक्षित कर दी गई है. यह जानकारी मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने आज गुरुवार को विधान परिषद में दी. विधायक विनायक मेटे के मराठा आरक्षण के मुद्दे पर मुख्यमंत्री फड़णवीस उत्तर देते हुए कहा कि राज्य सरकार की ओर से सरकार की नई नौकरियों में मराठा समाज के लिए 16 प्रतिशत स्थान आरक्षित रखा जा रहा है. उन्होंने कहा कि मराठा आरक्षण का निर्णय फिलहाल हाईकोर्ट में लंबित है. अतः हाईकोर्ट का फैसला आने पर यह बैकलॉग भरा जाएगा. इस दौरान धनंजय मुंडे ने विधान परिषद के नियम 289 के तहत मराठा आरक्षण पर स्थगन प्रस्ताव लाते हुए आरोप लगाया कि सरकार मराठा समाज धोखाधड़ी कर रही है. उन्होंने कहा कि मराठा समाज ने इतने वर्ष संयम दिखाया है. लाखों की संख्या में मूक मोर्चे निकाल कर दुनिया के सामने आदर्श पेश किया है. मराठा समाज के युवाओं के संयम की परीक्षा अब नहीं लिया जाए. उनकी उपेक्षा न करें, धनंजय मुंडे ने सरकार को चेतावनी दी कि यदि उनके सब्र का बांध टूटा तो फिर उनका दोष नहीं होगा. विधानसभा में विरोधी पक्ष के नेता अजित पवार ने भी मराठा आरक्षण पर स्थगन प्रस्ताव लाकर यही बातें दोहराई.

‘दूध बहाओ आंदोलन’ हुआ सफल, 25 रुपए मिलेगी कीमत

दर में 5 रुपए की बढ़ोत्तरी 21 जुलाई से हो जाएगी लागू नागपुर : स्वाभिमानी शेतकरी संगठन के अध्यक्ष सांसद राजू शेट्टी के दूध आंदोलन को आखिर सफलता मिल गई. राज्य सरकार ने दूध आंदोलनकारियों की मांग मान ली है. आज यहां मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस की विधान परिषद के सभापति रामराजे निंबालकर और विरोधी पक्ष नेताओं के साथ हुई बैठक में दूध को प्रति लिटर 25 रुपए कीमत देने का निर्णय लिया गया. दूध संघ दुग्ध उत्पादक किसानों को 25 रुपए की दर से भुगतान करेंगे और राज्य सरकार दूध संघों को प्रति लिटर 5 रुपए का अनुदान देगी. यह निर्णय 21 जुलाई से लागू होगा. यह जानकारी दुग्धविकास मंत्री अर्जुन खोतकर ने विधानसभा में दी. इस निर्णय पर सांसद राजू शेट्टी ने फिलहाल अपनी कोई आपली प्रतिक्रिया नहीं दी है. बताया गया कि राजू शेट्टी मुंबई से नागपुर पहुंच गए हैं. समझा जाता है कि अर्धरात्रि से उनका दूध बहाओ आंदोलन वापस ले लिया जाएगा.

महाराष्ट्र के विधायकों के अच्छे दिन : यात्रा भत्ते में तिगुणे से अधिक की...

यात्रा भत्ता प्रति किलोमीटर 6 रुपए से बढ़ कर अब हो गया 20 रुपए नागपुर : महाराष्ट्र के विधायकों के अच्छे दिन आ गए हैं. विधायकों का यात्रा भत्ता प्रति किलोमीटर 6 रुपए से बढ़ा कर 20 रुपए कर दिए गए हैं. नागपुर में विधानमंडल के चल रहे मॉनसून अधिवेशन में यह संशोधन विधेयक एकमत से मंजूर कर दिया गया है. पेट्रोल-डीजल की दरों में बढ़ोत्तरी, जनता के काम के लिए, अधिवेशन, बैठकों के लिए यात्रा करने के लिए यात्रा भत्ते में यह बढ़ोत्तरी की गई. यह बात यहां खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री गिरीश बापट ने कही. इससे पूर्व महाराष्ट्र में 2016 में इसी तरह मॉनसून अधिवेशन के अंतिम दिन विधानमंडल में एक विधेयक के माध्यम से वेतन, भत्ते और पेंशन में एकमत से बढ़ोत्तरी मंजूर किए गए थे. महाराष्ट्र के विधायकों के भत्ते और वेतन * महंगाई भत्ता 91,120 रुपए * फोन भत्ता 8, 000 रुपए * कम्प्यूटर ऑपरेटर का वेतन 10, 000 रुपए * डाक खर्च के लिए 10, 000 रुपए * मूल वेतन 67, 000 रुपए

महाजेनको की बिजली उत्पादन क्षमता बढ़ेगी, संसाधनों की बचत होगी : उर्जा मंत्री बावनकुले

कोयला व खदानों के पानी के तीन अभिनव विद्युत प्रकल्पों को देश के लिए प्रेरणादायी बताया नागपुर : पाईप कन्व्हेयर से कोयले की थर्मल स्टेशनों तक ढुलाई से न केवल अधिक उत्तम दर्जे का कोयला महाजेनको को उपलब्ध होगा, बल्कि ढुलाई लागत में कमी साथ ही विद्युत उत्पादन लागत में भी भारी कमी आएगी. यह उदगार यहां महाराष्ट्र के उर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने भूमिपूजन समारोह में व्यक्त किए. पाईप कन्व्हेयर द्वारा कोराडी और खापरखेड़ा को कोयला उन्होंने कहा कि फिलहाल 6,500 मेगावट क्षमता के थर्मल पावर स्टेशनों के लिए इस योजना साकार किया जा रहा है. वेकोलि की नागपुर जिले की 5 कोयला खदानों से एक साथ पाईप कन्व्हेयर द्वारा कोराडी और खापरखेड़ा थर्मल पावर स्टेशनों को कोयले की आपूर्ति की जाएगी. उन्होंने कहा कि केंद्रीय कोयला मंत्री पीयूष गोयल की पहल से ही देश को यह पहला और प्रेरणादायी प्रकल्प प्राप्त हो रहा है, जिसे अत्याधुनिक पद्धति से रिमोट की सहायता से मॉनेटरिंग करना संभव होगा. गड़करी ने बावनकुले को उर्जावान उर्जामंत्री बताया कविवर्य सुरेश भट सभागृह में आयोजित इस प्रकल्प के भूमिपूजन समारोह में बावनकुले बोल रहे थे. मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस और केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी के मार्गदर्शन में महाजेनको के इन तीन महत्वाकांक्षी प्रकल्पों के साकार होने पर बावनकुले ने उनके प्रति आभार व्यक्त किया. केंद्रीय मंत्री गड़करी ने भी अपने भाषण में प्रकल्पों को साकार कराने में चंद्रशेखर बावनकुले की कार्यशैली की प्रशंसा करते हुए उन्हें उर्जावान उर्जामंत्री निरुपित किया. भांडेवाड़ी से 150 मिलियन घनलिटर पानी निःशुल्क महाजेनको के तीन प्रकल्पों में नागपुर जिले की भांडेवाड़ी खदान के गंदे पानी को पुनरोपयोग लायक बनाने वाले प्रकल्प से निःशुल्क 150 मिलियन घनलिटर पानी कोराडी और खापरखेडा थर्मल विद्युत को मिलेगा. इससे नाग नदी और गोसीखुर्द जलाशय के पानी के प्रदूषण में कमी होगी. भविष्य में उमरेड के प्रस्तावित थर्मल पावर स्टेशन के लिए भी खदान के गंदे पानी का उपयोग संभव हो पाएगा. कार्यक्रम का संचालन रेणुका देशकर ने किया. इस अवसर पर कार्यक्रम में उर्जा विभाग के प्रधान सचिव अरविंद सिंह, महाजेनको के अध्यक्ष तथा प्रबंध संचालक बिपिन श्रीमाली, मराविमं सूत्रधारी कंपनी के संचालक विश्वास पाठक, संचालक(प्रकल्प) विकास जयदेव, संचालक(वित्त) संतोष आंबेरकर, महाजेनको के कार्यकारी संचालक, मुख्य अभियंता प्रामुख रूप से उपस्थित थे. कार्यक्रम में महाजेनको, वेकोलि, महामेट्रो, रेल्वे और नागपुर महानगर पालिका के अधिकारी भी उपस्थित थे.

बदले जा रहे ड्राइविंग लाइसेंस संबंधी कानून

डिजिटल लॉकर करेगा काम आसान, नई व्यवस्था शुरू कर रही सरकार नई दिल्‍ली : ड्राइविंग के दौरान अब लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल), रजिस्‍ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी), पॉल्‍यूशन कंट्रोल सर्टिफिकेट, इंश्‍योरेंस की मूल कॉपी रखने की जरूरत नहीं होगी. यह तीनों चीजें अब डिजिटल फॉर्मेट में रखी जा सकती हैं. केंद्र सरकार जल्‍द ही मोटर व्‍हीकल कानून में बदलाव कर यह नई व्‍यवस्‍था शुरू करने जा रही है. केंद्रीय सड़क और यातायात मंत्रालय की ओर से इस संबंध में कानून का मसौदा जारी कर लोगों से राय मांगी जा रही है. डिजिटल डीएल, आरसी के लिए डिजिटल लॉकर बनाएं हालांकि महाराष्ट्र सहित कुछ राज्यों में पहले से ही ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी अलग-अलग डेबिट या क्रेडिट कार्ड की शक्ल में वर्षों पहले से डिजिटल कर दिए गए हैं. फिर भी वाहन संबंधी सभी कागजात एक जगह रखने के लिए डिजिटल लॉकर बहुत उपयोगी साबित हो सकता है. डिजिटल डीएल या आरसी बनने के लिए सरकार की क्‍लाउड बेस्‍ड 'डिजिलॉकर' में अपने वाहन के कागजात को स्‍टोर करने होंगे और जैसे ही चैकिंग के दौरान ट्रैफिक पुलिस डीएल या आरसी मांगे तो तुंरत अपने स्‍मार्ट फोन पर डिजिटल लॉकर में स्‍टोर ड्राइविंग लाइसेंस दिखा सकते हैं. इन डिजिटल डीएल या आरसी का इस्‍तेमाल एड्रेस प्रूफ या पहचान के तौर पर भी इस्‍तेमाल किया जा सकता है. कैसे खोलें डिजिटल लॉकर अकाउंट डिजिटल लॉकर अकाउंट खोलना बहुत ही आसान है. इसके लिए इस लिंक पर https://digilocker.gov.in/?ref=tpst-msn क्लिक कर अकाउंट खोला जा सकता है, अथवा गूगल प्‍ले स्‍टोर से भी डिजिटल लॉकर के मोबाइल ऐप डाउनलोड किया जा सकता है. गूगल प्‍ले स्‍टोर का लिंक है https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digilocker.android?ref=tpst-msn इसके बाद साइन अप का ऑप्‍शन है, जहां क्लिक करके आपसे आपको अपना मोबाइल नंबर डालना पड़ेगा. मोबाइल नंबर पर आए वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) के बाद आगे कुछ जानकारियां मांगी जाएंगी. जिन्‍हें भरने के बाद अकाउंट खुल जाएगा. इस डिजिटल लॉकर में आप अपने जरूरी दस्तावेज अपलोड कर सुरक्षित रख सकते हैं. टैक्‍सी-कैब चालकों के लिए भी है बहुत फायदेमंद निजी वाहन मालिकों को तो इसका फायदा मिलेगा ही, लेकिन टैक्‍सी-कैब चालकों को इसका अधिक फायदा होगा, क्‍योंकि चैकिंग के दौरान उन्‍हें कई तरह के डॉक्‍यूमेंट दिखाने होते हैं. डिजिटल लॉकर में होने के कारण ये डॉक्‍यूमेंट एक क्लिक के साथ ही खुल जाएंगे और टैक्‍सी चालकों का काफी समय बचेगा.

बैडमिंटन का दूसरा राज्य चयन टूर्नामेंट 20 जुलाई से वर्धा में

32 जिलों के चुने हुए महिला-पुरुष खिलाड़ी दिखाएंगे अपना जौहर नागपुर : राज्य स्तरीय वरीय श्रेणी चयन बैडमिंटन टूर्नामेंट-2018 का आयोजन पहली बार वर्धा में होने जा रहा है. आगामी सोमवार, 20 जुलाई को अपराह्न 3.30 बजे वर्धा के जिला स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के बैडमिंटन कोर्ट में टूर्नामेंट का उद्घाटन होगा. यह जानकारी यहां वर्धा जिला शटल बैडमिंटन एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश पटेल, सचिव मोहन शाह और उपाध्यक्ष व महाराष्ट्र बैडमिंटन एसोसिएशन के सदस्य अनिल गुप्ता ने यहां तिलक पत्रकार भवन में आयोजित पत्र परिषद में दी. तीसरा चयन टूर्नामेंट लातुर में 20 अगस्त को उन्होंने बताया कि राज्य बैडमिंटन ओपन की की वर्धा में दूसरी प्रतियोगिता होने जा रही है. पहली प्रतियोगिता इसी माह के प्रथम सप्ताह में बारामती में हुई थी. तीसरा चयन टूर्नामेंट आगामी 20 अगस्त को लातुर में होगा. इस टूर्नामेंट के आधार पर राज्य बैडमिंटन एसोसिएशन राज्य का प्रतिनिधत्व करने के लिए राष्ट्रीय स्तर की स्पर्धा हेतु खिलाड़ियों का चयन करेगा. टूर्नामेंट का समापन 23 जुलाई को वर्धा में आयोजित इस टूर्नामेंट में पुरुष एकल, महिला एकल, पुरुष युगल, महिला युगल और महिला-पुरुष युगल की स्पर्धा होगी. इस चयन टूर्नामेंट में में राज्य के 32 जिलों के चुने गए खिलाड़ी भाग लेंगे. टूर्नामेंट का समापन आगामी 23 जुलाई को अपराह्न 4 बजे होगा. समापन समारोह में उत्कृष्ट खिलाड़ियों के लिए पुरस्कार वितरण होगा. कार्यक्रम में लातुर एसोसिएशन के उपाध्यक्ष अधि. आशीष वाजपेयी, सचिव सुन्दर शेट्टी, रेफरी पैनल के अध्यक्ष मुकुंद कावेरी, अन्य पदाधिकारी और जिला एसोसिएशनों के पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे. पहली बार वर्धा में चयन टूर्नामेंट का आयोजन उन्होंने बताया कि वर्धा में पहली बार इस राज्य स्तरीय चयन टूर्नामेंट स्व. रावजीभाई पटेल और स्व. कमलेश रा. पटेल की स्मृति में किया जा रहा है. इसकी प्रायोजक श्रीमती शारदाबेन रा. पटेल हैं. टूर्नामेंट के उद्घाटन कार्यक्रम की अध्यक्षता महाराष्ट्र बैडमिंटन एसोसिएशन के अध्यक्ष अरुण लाखानी करेंगे, लाखानी बैडमिंटन एसोसिशन ऑफ इंडिया के उपाध्यक्ष भी हैं. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिलाधीश शैलेश नवल तथा प्रमुख अतिथि प्रायोजक श्रीमती शारदाबेन रा. पटेल होंगी. अनिल गुप्ता ने बताया कि वर्धा डिस्ट्रिक्ट शटल बैडमिंटन एसोसिएशन इस वर्ष अपने 30 वर्ष पूरे कर रहा है. इस दौरान एसोसिएशन के माध्यम से वर्धा, आर्वी, हिंगणघाट से अनेक प्रतिभाशाली बैडमिंटन खिलाड़ियों को राज्य स्टार की स्पर्धाओं में भाग लेने का अवसर मिला है. एसोसिएशन की ओर से प्रति वर्ष जिला स्तरीय बैडमिंटन चयन टूर्नामेंट का आयोजन किया जाता है. पत्र परिषद में वर्धा जिला एसोसिएशन के उपाध्यक्ष संजय पांडेय, ट्रेजरर चतुर सिंह गोलकलानी, सदस्य गिरीश उपाध्याय, सुनील कालरा, रूपेश परमार, राहुल व्यास, योगेश मेहता, सौरभ व्यास और वरुण दूबे भी उपस्थित थे.

मध्य रेलवे की ZRUCC कमेटी का अविलम्ब गठन करें- मोटवानी

रेल मंत्री पीयूष गोयल, जीएम मध्य रेल के.डी. शर्मा को दिया ज्ञापन नागपुर : केंद्रीय मंत्री नितिनजी गड़करी की उपस्तिथि में केंद्रीय रेलवे मंत्री पीयूष गोयल को गत सोमवार को सेंटर पॉइंट होटल के एक कार्यक्रम में पिछले 20 वर्षो से DRUCC और ZRUCC सदस्य रहे प्रताप ए. मोटवानी ने ज्ञापन देकर मांग की कि मध्य रेलवे की ZRUCC का गठन शीघ्र किया जाए. उन्होंने रेल मंत्री को बताया कि 1 वर्ष से ज्यादा समय होने के बावजूद अभी तक मध्य रेलवे में ZRUCC कमेटी का गठन नहीं किया गया है. जिससे व्यापारियों सहित यात्रियों की रेलवे संबंधित शिकायतें और सुझाव अधिकारियों और रेल मंत्रालय तक नहीं पहुंच रहे हैं. मोटवानी ने बताया कि ऐसा पहली बार हुआ है कि कमेटी गठन होने में विलंब और आधा कार्यकाल समाप्ति पर है. मोटवानी ने इस संदर्भ में रेल मंत्री पीयूष गोयल के साथ ही सेंट्रल रेलवे के जी.एम. के.डी. शर्मा को भी ज्ञापन दिया. रेल मंत्री गोयल ने अविलम्ब इस पर कार्रवाई का आश्वासन दिया. मोटवानी ने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के जी.एम. सुनील सिंह सोइन, पदाधिकारी हिमांशु जैन, सी.सी.एम. डॉ प्रकाशचंद त्रिपाठी सहित नागपुर मंडल के सेंट्रल रेलवे और दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के वरिष्ठ पदाधिकारियो से भेंट की. इस अवसर पर सेंट्रल रेलवे मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी सुनील उदासी भी उपस्तिथ थे. रेल मंत्री को ज्ञापन सौंपते वक्त दी होलसेल ग्रेन एंड सीड्स मर्चेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष और पूर्व ZRUCC सदस्य संतोष कुमार अग्रवाल भी उपस्थित थे.