LATEST ARTICLES

भाजपा के प्रवीण पोटे व कांग्रेस के माधोगढ़िया की किस्मत मतपेटियों में बंद

अमरावती विधान परिषद क्षेत्र के चुनाव में भारी मतदान, परिणाम 24 को अमरावती : अमरावती स्थानीय स्वायत्त शासी निकाय निर्वाचन क्षेत्र के विधान परिषद की सीट के लिए आज सोमवार, 21 मई को लिए मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुए. रमजान का दिन और तपती धूप के बीच मतदाओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग पूरे उत्साह के साथ किया. इस क्षेत्र की मतगणना भी राज्य के अन्य पांच विधान परिषद चुनाव के साथ अब गुरुवार, 24 मई को होगी. जिले भर में करीब 12 बजे पूरे हुए मतदान जिले भर में प्रात: 8 बजे से मतदान शुरू होते ही लगभग सभी तहसील केंद्रों पर मतदाता सदस्यों की कतार लगानी शुरू हो चुकी थी. प्राप्त जानकारी के अनुसार 11 से 12 बजे के बीच अधिकांश तहसील के मतदान केंद्रों में मतदान पूरे हो गए थे. जिले की चिखलदरा तहसील में सबसे पहले सुबह 11 बजे ही सभी मतदाता सदस्य अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके थे. वहीं धामणगांव तहसील में 11.30 बजे के 100 फीसदी मतदान हो चुके थे. मात्र 50 मतदाता सदस्य संख्या वाली अचलपुर तहसील में अपराह्न 12 बजे तक 49 सदस्यों ने अपने मताधिकार का प्रयोग कर लिया था. वहीं एक महिला पालिका सदस्य ने बाहरगांव से वापस लौटकर दोपहर करीब 1 बजे अपने मताधिकार का प्रयोग किया. भातकुली व धारणी तहसील में अन्य मतदाताओं के वोट डाल लेने के बाद दोपहर 2 बजे दो-दो मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किए. पता चला कि जिले की अधिकांश तहसीलों में दोपहर 12 बजे तक 100 फीसदी मतदान हो चुका था. राज्यमंत्री प्रवीण पोटे भाजपा के माधोगढ़िया कांग्रेस के प्रत्याशी इस चुनाव में राज्यमंत्री प्रवीण पोटे को लगातार दूसरी बार भाजपा ने अपना उम्मीदवार बनाया था. वहीं कांग्रेस के उम्मीदवार पार्षद अनिल माधोगढ़िया हैं. अमरावती क्षेत्र से यही दोनों उम्मीदवार चुनाव मैदान में सीधे मुकाबले में रहे. आज दोनों के भाग्य मतपेटियों में बंद हो चुके हैं. मतगणना अब गुरुवार, 24 मई को होगी. इसमें भी यह उल्लेखनीय है कि, जिले के अधिकांश तहसील क्षेत्रों में मुस्लिम मतदाता सदस्यों ने रमजान व रोजा जारी रहने के चलते धूप के तेज होने और गरमी बढने से पहले ही सुबह-सुबह जाकर अपने मताधिकार का प्रयोग कर लिया था. इसके साथ ही जिले में 100 फीसदी मतदान पूरा हो गया और भाजपा प्रत्याशी प्रवीण पोटे व कांग्रेस उम्मीदवार अनिल माधोगढ़िया की किस्मत मतपेटियों में बंद हो गईं.

चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली स्थानीय स्वशासी निकाय क्षेत्र के चुनाव में 99.73 प्र.श. मतदान

सभी चारों उम्मीदवारों की किस्मत मतपेटियों में हुईं बंद, मतगणना 24 को चंद्रपुर में रवि लाखे/अश्विन शाह वर्धा : चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली स्थानीय स्वशासी निकाय चुनाव क्षेत्र के चुनाव में आज 21 मई को अपराह्न 4 बजे तक कुल 99.73 प्रतिशत मतदान हुए. इसके साथ ही यहां चुनाव में खड़े भाजपा, कांग्रेस और दो निर्दलीयों की किस्मत मतपेटियों में बंद हो गईं. अब मतगणना गुरुवार, 24 मई को चंद्रपुर में होगी. 1059 मतदाताओं में से 1056 मतदाताओं ने मतदान किए सुबह 8 बजे से अपराह्न 4 बजे तक हुए मतदान में कुल 1059 मतदाताओं में से 1056 मतदाताओं ने मतदान किए. इस चुनाव क्षेत्र से दो निर्दलीय उम्मीदवार जगदीश अचलदास टावरी और सौरभ राजू तिमांडे के अलावा डॉ. रामदास भगवानजी आंबटकर भाजपा से और इंद्रकुमार सराफ भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उम्मीदवार हैं. 17 मतदान केंद्रों पर हुए मतदान आज के चुनाव में आर्वी, हिंगणघाट और चामोर्शी मतदान केंद्रों में एक-एक मतदाता अपने वोट नहीं डाले, जबकि 17 में से 14 मतदान केंद्रों पर शत-प्रतिशत मतदान हुए. स्थानीय स्वशासी निकाय चुनाव क्षेत्र के लिए वर्धा जिले में 308, चंद्रपुर में 469 और गढ़चिरोली जिले में 282 मतदाताओं को मिला कर कुल 1059 मतदाता हैं. मतदान के लिए तीनों जिलों में 17 मतदान केंद्र बनाए गए थे. तीनों जिलों में इस प्रकार हुए मतदान वर्धा जिले के तहसील कार्यालय आर्वी-(98.75 प्र.श.), वर्धा-(१100 प्र.श.) और हिंगणघाट-(98.70 प्र.श.), चंद्रपुर जिले के तहसील कार्यालय चिमूर, ब्रम्हपूरी, वरोरा, मूल, चंद्रपुर, बल्लारपुर, गोंडपिपरी और राजूरा- इन सभी मतदान केंद्रों पर शत-प्रतिशतमतदान और गढ़चिरोली जिले के तहसील कार्यालय कुरखेड़ा-(100%), देसाईगंज-(100%), गढ़चिरोली-(100%), चार्मोशी-(98.08%), अहेरी-(100%) व एटापल्ली-100%) मतदान हुए. चंद्रपुर में जिला परिषद के अध्यक्ष देवराव भोंगले ने गोंडपिपरी में और महापौर अंजली घोटेकर ने चंद्रपुर में मतदान किया. वर्धा जिले में 99.35 फीसदी मतदान महाराष्ट्र विधान परिषद के चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली स्थानीय स्वशासी निकाय क्षेत्र के चुनाव के लिए मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुए. जिले में आर्वी, वर्धा और हिंगणघाट के तीन मतदान केंद्रों पर कुल 99.35 फीसदी मतदान हुए. इसमें जिले के 308 मतदाताओं ३०६ मतदाताओं मताधिकार का प्रयोग किया. इसमें 154 पुरुष मतदाताओं में से 153 पुरुष मतदाताओं ने मतदान किए. इसी तरह 154 महिला मतदाताओं में से 153 महिलाओं ने मतदान किए. आर्वी, वर्धा, हिंगणघाट के तहसील कार्यालयों में थे मतदान केंद्र जिले में आर्वी, वर्धा और हिंगणघाट के तहसील कार्यालयों में मतदान केंद्र बनाए गए थे. इन मतदान केंद्रों में संबंधित तहसीलदारों ने मतदान केंद्राध्यक्ष की भूमिका निभाई. आर्वी में 80 मतदाताओं में से 79 मतदाताओं ने मतदान किए. यहां 39 पुरुष और 41 महिला मतदाता हैं. वर्धा केंद्र पर 151 में 151 मतदान हुए. इनमें सभी 74 पुरुष और 77 महिला मतदाताओं ने मतदान किए. हिंगणघाट केंद्र पर 77 में से 76 वोट डाले गए. इनमें 42 पुरुषों में से 41 पुरुष तथा 35 महिलाओं ने मतदान किए. अब तीनों जिलों में हुए मतदान की मतगणना आगामी गुरुवार 24 मई को चंद्रपुर में होगी. यह जानकारी निवासी उपजिलाधिकारी वैभव नावडकर ने दिया.

भूमि का जबरन गैरकानूनी अधिग्रहण, किसानों के हक पर डाका डालना है

पीएम मोदी के क्षेत्र में किसानों की सभा में गरजे किसान नेता अविनाश काकड़े - भूमि अधिग्रहण कानून 2013 के वर्तमान सर्किल रेट के चार गुना मुआवजा लिए बिना एक इंच जमीन नहीं देंगे किसान - गुरुवार, 24 मई को तहसील मुख्यालय राजातलाब के प्रभावित किसान करेंगे घेराव विनय शंकर राय वाराणसी : जिले के सजोई पंचायत भवन मैदान में रिंग रोड फेज 2 से प्रभावित किसानों की किसान पंचायत, किसान खेत मजदूर कांग्रेस के प्रदेश संयोजक विनय शंकर राय "मुन्ना" की अध्यक्षता में तथा मुख्य अतिथि किसान खेत मजदूर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रभारी अविनाश काकड़े की उपस्थिति में हुई. पहले चारगुना मुआवजा एवं पुनर्वास की व्यवस्था हो पंचायत में सर्वसम्मति से फैसला हुआ कि भूमि अधिग्रहण कानून 2013 के प्रावधान के तहत जब तक सरकार सर्किल रेट का चारगुना मुआवजा एवं पुनर्वास की कानून के तहत व्यवस्था नहीं देगी, तब तक एक इंच जमीन नहीं देंगें किसान, न ही सहमति पत्र भरेंगें, सरकार अगर जबरदस्ती अधिग्रहण की योजना बनाई तो मुंहतोड़ जबाब देंगे. कार्यक्रम का संचालन गगन प्रकाश यादव एवं धन्यवाद प्रेषित सुनील सिंह एवं स्वागत भाषण रविन्द्र वर्मा ने किया. किसानों को संगठित करमुंहतोड़ जबाब-काकड़े मुख्य अतिथि किसान खेत मजदूर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रभारी अविनाश काकड़े ने कहा कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में रिंग रोड की जमीन को धारा-3(ई) राष्ट्रीय राजमार्ग अधिनियम 1956 की नोटिस देना किसानों के हक पर डाका डालना है, जिसका मुंहतोड़ जबाब किसानों को संगठित कर दिया जाएगा. भाजपा सरकार को किसान विरोधी बताते हुए काकड़े ने कहा कि किसानों के व्यापक हितों के लिए भूमि अधिग्रहण एवं पुनर्वास कानून 2013 को नजरअन्दाज कर 1956 के कानून की नोटिस पकड़ा कर अधिग्रहण की योजना बनाना पूर्णतया गैरकानूनी एवं अनैतिक है, जिसका जवाब सड़क से सदन तक संघर्ष कर दिया जाएगा. आर-पार की लड़ाई विशिष्ट अतिथि उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की प्रदेश सचिव श्वेता राय ने कहा कि विकास के नाम पर किसानों का शोषण कर किसानों के साथ छलावा कर रही है भाजपा सरकार, 24 मई को राजातालाब तहसील का घेराव कर आर-पार की लड़ाई का विगूल फूंका जाएगा. किसानों के साथ वादाखिलाफी अपना दल के पूर्व जिला अध्यक्ष राजेश पटेल ने कहा कि सत्ता के मद में चूर नरेन्द्र मोदी को अहंकार छोड़ अन्नदाता के साथ न्याय करना चाहिए. सपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष गोपाल यादव ने कहा कि सरकार चुनाव में वादा कर आज किसानों के साथ वादाखिलाफी कर रही है. किसानों का शोषण नहीं होने देंगे भारतीय समाज पार्टी के जिला महासचिव बब्लू राजभर एवं त्रिलोकी राजभर ने कहा कि अन्नदाता किसानों का शोषण नहीं होने दिया जाएगा. पंचायत में प्रमुख रूप से पवन पाण्डेय, मो. शकील, सुनील मौर्या, विरेन्द्र उपाध्याय, पवन सिंह "प्रेम", डॉ. जे.आर. पाण्डेय, काशीनाथ राय, विपीन यादव, मेवा पटेल, प्रेमचन्द गुप्ता, सुरेन्द्र डाक्टर, विजय गुप्ता सहित अनेक लोगों ने विचार व्यक्त किए.

अमरावती और चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली समेत 6 वि.प. सीटों के लिए मतदान जारी

इन सभी स्थानीय निकाय क्षेत्रों के विधान परिषद सीटों के चुनाव की मतगणना 24 को नागपुर : स्थानीय निकाय निर्वाचन क्षेत्रों से महाराष्ट्र विधान परिषद की विदर्भ की दो सीटों अमरावती और चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली समेत 6 सीटों के द्विवार्षिक चुनाव के लिए आज सोमवार, 21 मई को मतदान शुरू हो गया है. राज्य के अन्य विधान परिषद की सीटों के लिए ओस्मानाबाद-बीड़-लातुर, रायगढ़-रत्नागिरि-सिंधुदुर्ग, नासिक और परभणी-हिंगोली में भी मतदान जारी हैं. इन सभी चुनाव क्षेत्रों के मतदान की मतगणना गुरुवार, 24 मई को होगी. ज्ञातव्य है कि इन चुनावों में सभी स्थानीय स्वराज शासित निकायों के सभी पार्षद, जिप सदस्य, पंचायत समिति सभापति के अलावा अन्य सदस्य ही मतदाता हैं. विदर्भ के पार्षद, जिप सदस्य, पंचायत समिति सभापति के अलावा अन्य सदस्यों वाले अमरावती और चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली विधान परिषद क्षेत्रों में हालांकि मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है, लेकिन दोनों ही क्षेत्रों में भाजपा का पलड़ा भारी बताया जा रहा है. चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली क्षेत्र की स्थिति- चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली विधान परिषद क्षेत्र में भाजपा के डॉ. रामदास आंबटकर और कांग्रेस के बीच मुकाबला चला. वहीं अमरावती विधान परिषद क्षेत्र में उद्योग राज्यमंत्री प्रवीण पाटिल पोटे के मुकाबले कांग्रेस ने अपने पार्षद अनिल माधोगढ़िया को कडा किया है. 1,062 मतदाताओं वाले चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली क्षेत्र में जहां भाजपा 700 से अधिक मत प्राप्त करने का दावा कर रही है, वहीं कांग्रेस की गाड़ी 400 से आगे नहीं बढ़ पाई है. अर्थात कल तक यहां कांग्रेस नेता कुल 400 मतों पर अपनी दावेडारी पाकी बता रहे थे. अमरावती क्षेत्र की स्थिति- इधर 487 मतदाताओं वाले अमरावती स्थानीय स्वशासन निकाय क्षेत्र से भाजपा ने जहां लगभग 300 मतदाताओं के समर्थन का दावा कर रही है, वहीं कांग्रेस का दावा है कि उसके प्रत्याशी को कुल 270 मत प्राप्त होंगे. दूसरी ओर अमरावती भाजपा जहां पूर्व में अपने पास कुल 213 मतदाताओं का समर्थन होने की बात बता रही थी, वहीं अब वे 300 के करीब मत प्राप्त होने के प्रति आस्वस्त हैं. चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा को कांग्रेस के दावे वाले समर्थकों के बीच सेंध लगाने में भारी सफलता मिलाने की खबर है. अब आज राज्य चुनाव आयोग द्वारा जिन-जिन उपविभागीय कार्यालयों को मतदान केंद्र के रूप में अधिसूचित किया है, वहां शांतिपूर्वक मतदान होने की खबर है.

क्रेजी कैसल के वाटर राइड में दो युवकों की डूबने से मौत, एक युवती...

चार युवकों को उनके साथियों ने ही बचाया, उन्होंने ने ही अस्पताल पहुंचाया विपिन कुमार सिंह नागपुर : नागपुर शहर के प्रसिद्ध अंबाझरी लेक के सामने स्थित हल्दीराम इंटरनेशनल के एम्यूजमेंट वाटर पार्क 'क्रेझी केसल' के वाटर राइड में समुद्र की लहरों का आनंद ले रहे 6 युवक और 1 युवती में दो युवकों की मृत्यु उसमें डूब जाने कारण हो गई. उनमें एक युवती अस्पताल में मौत से जूझ रही है. आज दोपहर करीब 2 बजे के करीब हुई इस घटना से शहर सनसनी मचा दी. बाकी को उनके साथियों ने बचा लिया. लहरों के प्रवाह में तेजी से डूबे युवक प्राप्त जानकारी मुताबिक 15 युवकों का दल क्रेजी कैसल के वाटर राइड में स्नान कर रहे थे और पानी की लहरों के साथ मस्ती कर रहे थे. इन्हें तैरना भी नहीं आता था. लहरों का प्रवाह तेज होते ही अपने साथियों अचानक डूबने का एहसास यश भरद्वाज और ऋतुज देव नामक युवकों को हुआ. उन्होंने शोर मचाई और वहां खड़े क्रेजी कैसल के बाउंसरों को वाटर राइड रोकने को कहा. फिर एक दूसरे का हाथ पकड़ कर उन्होंने मानव श्रृंखला बनाई और चार युवक नयन पाठराबे, अक्षय अंबुलकर, आदर्श रामटेके, आदित्य खवले को बचाया. कुछ देर बाद अक्षय, सागर और स्नेहल को भी पानी से बाहर निकाला गया. क्या है वाटर राइड वाटर राइड एक कृत्रिम तालाब होता है, जिसमें इलेक्ट्रिक उपकरणों के सहारे पानी में समुद्र की तरह लहर पैदा की जाती है. इसमें स्नान करने वाले समुद्र की लहरों का आनंद लेते हैं. रविवार होने के कारण क्रेजी कैसल में काफी भीड़ थी. सैकड़ों युवक-युवती, स्त्री-पुरुष वाटर पार्क में आनंद ले रहे थे. इसी बीच यह हादसा हो गया. क्रेजी कैसल के कर्मचारी या बाउंसरों ने भी कोई मदद नहीं की प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यह सभी जब बेहोशी में थे, तब भी यहां के कर्मचारी या बाउंसरों ने उनकी मदद नहीं की. मित्रों ने ही ऑटो बुलाकर उन्हें वॉकहार्ट अस्पताल पहुंचाया. अस्पताल में अक्षय और सागर को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. स्नेहल का उपचार अस्पताल के आईसीयू में चल रहा है, उसकी हालत गंभीर बताई जाती है. घटना की सूचना मिलते ही मृतकों के रिश्तेदार और मित्र बड़ी संख्या में वॉकहार्ट पहुंचे. अम्बाझरी पुलिस ने छाबीन शुरू कर दी है. पुलिस क्रेजी कैसल के प्रबंधन हल्दीराम इंटरनेशल की लापरवाही और सुरक्षा की कमी की शिकायतों की भी जांच कर रही है.

चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली वि.प. चुनाव में भाजपा पकड़ मजबूत करने में सफल

राज्य के अन्य पांच चुनाव क्षेत्रों भी मतदान कल सोमवार को, मतगणना होगी 24 को अश्विन शाह पुलगांव (वर्धा) : चंद्रपुर-गढ़चिरोली-वर्धा विधान परिषद सीट के लिए मतदान का समय अब निकट आ गया है. कल सोमवार को सुबह 7 बजे से इन तीनों जिलों के स्थानीय निकायों के जनप्रतिनिधि महाराष्ट्र विधान परिषद के लिए अपने विधायक का चयन करेंगे. इसके लिए अब मतदान के लिए कुछ ही घंटे बचे हैं. इसके बाद उम्मीदवारों के भाग्य मतपेटियों में बंद हो जाएंगे. इस स्थानीय प्राधिकारी चुनाव क्षेत्र के लिए चंद्रपुर जिले के 8 उपविभागीय कार्यालय में, वर्धा जिले के 3 और गढ़चिरोली जिले के 6 उपविभागीय कार्यालयों में मतदान होंगे. मतगणना 24 मई को होगी. मुकाबले में हैं भाजपा और कांग्रेस उम्मीदवार इस सीट से राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा ने अपने प्रदेश महामंत्री और आरआरएस के समर्पित कार्यकर्ता डॉ. रामदास आंबटकर को अपना प्रत्याशी बनाया है. जवाब में कांग्रेस ने वर्धा जिले के बुजुर्ग नेता और पूर्व नगराध्यक्ष इन्द्र कुमार सराफ को मुकाबले में उतार दिया है. तीसरे निर्दलीय उम्मीदवार सौरभ तिमांडे हैं, जो एनसीपी से बगावत कर चुनाव में खड़े हो गए हैं. एक अन्य निर्दलीय जगदीश टावरी भाजपा को समर्थन देने की घोषणा कर किनारे हो गए हैं. इस तरह मैदान में भले ही तीन उम्मीदवार हैं, लेकिन मुकाबले की स्थति भाजपा के आंबटकर और सराफ के बीच ही है. अंतिम क्षणों में "विदर्भ आपला" का सर्वेक्षण मतदान के मात्र एक दिन पूर्व "विदर्भ आपला" ने तीनों जिलों में दोनों प्रमुख प्रतिद्वंद्वियों (भाजपा और कांग्रेस) की स्थिति का जायजा लेने की कोशिश की है. भाजपा के लिए यह सीट वाकओवर जैसी मानी जा रही थी. लेकिन कांग्रेस सराफ अपना उम्मीदवार बना कर भाजपा के लिए मुश्किलें पैदा कर दी थीं. माना जा रहा था और कांग्रेस का दावा है कि उसने 1062 मतदाताओं वाले इस चुनाव क्षेत्र में 400 से अधिक सीटें पक्की कर ली हैं. शिवसेना और बसपा का समर्थन भी कांग्रेस को ही मिलाने की उम्मीद जताई जा रही है. भाजपा को 750 मत प्राप्त होने का विशवास लेकिन ऐसी परिस्थितियों के बीच भाजपा के लिए प्रतिष्ठा की बनी इस सीट के लिए तीनों जिलों के भाजपा विधायकों, मंत्रियों और सांसदों ने एड़ी-चोटी का जोर लगा भाजपा प्रत्याशी की स्थिति सुदृढ़ बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. वर्धा जिला भाजपा अध्यक्ष राजीव बकाने का दावा है कि उनकी पार्टी ने के साथ क्षेत्र के 700 से 750 मतदाताओं का समर्थन प्राप्त हो गया है. डैमेज कंट्रोल करने में भाजपा सफल विधान परिषद के लिए नामांकन के पश्चात पिछले दिनों नागपुर में आयोजित बैठक में केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी द्वारा कार्यकर्ताओं को खरी-खरी सुना देने से कई नगरसेवकों में असंतोष को कांग्रेस प्रत्याशी इंद्रकुमार सराफ द्वारा भुनाने में नाकामयाब रहने से भाजपा को होने वाला नुकसान टल गया. भाजपा चुनाव प्रभारी वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार और सांसदों एवं विधायकों ने डैमेज कंट्रोल करने सफलता पा ली है. गढ़चिरोली में विरोधी पक्ष भी भाजपा साथ गढ़चिरोली में शिवसेना की विद्यार्थी सेना के साथ ही अन्य संगठनों समर्थन प्राप्त कर भारतीय जनता पार्टी नेताओं ने जिले के अनेक विरोधी मतदाताओं को भी अपने समर्थन में...

विश्व की शांति के पहले मन की शांति परम आवश्यक

अंतरराष्ट्रीय शांति एवं समता परिषद के सम्मेलन में आचार्य लोकेश मुनि जी का प्रतिपादन नागपुर : अंतरराष्ट्रीय शांति एवं समता परिषद के अंतर्गत "सामाजिक शांति और समता" विषय पर आयोजित दो दिवसीय सम्मलेन के पहले दिन आज यहां अहिंसा विश्व भारती के आचार्य लोकेश मुनि जी ने प्रतिपादित किया कि विश्व की शांति के पहले मन की शांति परम आवश्यक है. मन शांत नहीं रहा तो व्यक्ति शांत नहीं रह सकता. गौतम बुद्ध ने विश्व को यही संदेश दिया है. उन्होंने विश्व को शांति और करुणा की मार्ग दिखलाया. जिसका अवलम्बन डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर ने कर लोगों को उसी मार्ग पर चलने को प्रेरित किया है. महाराष्ट्र शासन के सामाजिक न्याय विभाग, डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर संशोधन संस्था (बार्टी) व समता प्रतिष्ठान नागपुर के संयुक्त तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय वैशाख दिन (बौद्ध पौर्णिमा निमित्त) रेशीमबाग स्थित कविवर्य सुरेश भट सभागृह में आयोजित इस दो दिवसीय सम्मलेन का उदघाटन केंद्रीय सामाजिक न्याय और सक्षमीकरण राज्यमंत्री रामदास आठवले ने किया. दीक्षाभूमि से विश्व को शांति का सन्देश पहुंचाएं : अब्दुल फलाही इसी क्रम ने मुस्लिम समाज के विद्वान जनाब अब्दुल फलाही ने कहा कि डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर ने दीक्षाभूमि पर बुद्ध की शांति, अहिंसा और करुणा के सन्देश को पुनर्जीवित किया है. उन्होंने दीक्षाभूमि से विश्व को शांति का सन्देश पहुंचाने की आवश्यकता पर बल दिया. फलाही ने कहा कि इस्लाम धर्म भी शांति का धर्म है. लेकिन कुछ असामाजिक तत्व इस्लाम का नाम पर समाज में कटुता और विद्वेष फैलाने का काम कर रहे हैं. ऐसे तत्वों को रोकना और शांति का सन्देश आज समाज के सभी वर्गों तक पहुंचाना जरूरी है. बुद्ध के धम्म को समझने की आवश्यकता इस अवसर पर दुनिया भर से आए बौद्ध विद्वानों ने डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर की समता की संकल्पना पर अपने विचार व्यक्त करते हुए इस सन्दर्भ में गौतम बुद्ध के धम्म को समझने की आवश्यकता पर बल दिया. आंबेडकर की समता की संकल्पना सम्मेलन में थाइलैंड से डॉ. सिरीकोतन मनिरीन, राजकुमारी मारिया अमोर, राकुमारी सिसोवॉट, गगन मलिक के साथ महाबोधी सोसायटी , श्रीलंका के अध्यक्ष बानागल उपत्तीस्स नायक थेरो, बांग्लादेश के भंते बानाश्री महाथेरा संघनायक आदि ने समता की संकल्पना पर अपने विचार प्रस्तुत किए. इसके बाद थाईलैंड और कंबोडिया के कलाकारों ने अपने देश की कला का प्रदर्शन कर विश्वशांति का सन्देश दिया. कल रविवार के कार्यक्रम में 10.30 बजे केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी उपस्थित रहेंगे. कल का कार्यक्रम सुबह 7 बजे से शुरू होकर देर शाम को समाप्त होगा.

दलहन में किसानों को हो रहा भारी नुकसान

चने की सट्टेबाजी बंद कराने व तुअर, मूंग, उड़द के आयात भी रोकने की मांग नागपुर : दलहनों की गिरती कीमतों से चिंतित थोक अनाज बाजार ने सरकार से मांग की है कि चने को तुरंत वायदा बाजार से मुक्त कराया जाए और तुअर, मूंग एवं उड़द का आयात भी तत्काल रोका जाए. फेडरेशन ऑफ़ एसोसिएशन ऑफ ट्रेड, पुणे के उपाध्यक्ष एवं दि होलसेल ग्रेन एंड सीड्स मर्चेंट एसोसिएशन के सचिव प्रताप ए. मोटवानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, खाद्यान्न मंत्री रामविलास पासवान एवं वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु को ट्विट कर मांग की है कि किसानों को यदि फसलों के उचित मूल्य दिलाने हैं तो चने का वायदा तुरंत खत्म कराएं. साथ ही तुअर, मूंग और उड़द की आयात पर भी तत्काल रोक लगाएं. अन्यथा किसानों को भारी नुकसान होगा. मोटवानी ने बताया है कि फिलहाल मंडियों में चना 3500 की दर से बिक रहा है और आयातित चने का भाव 3450 से 3475 रुपए है. जबकि चने का समर्थन मूल्य 4450 रुपए है. अर्थात खुले बाजार में चना 1000 रुपए कम के भाव से बिक रहा है. इसका कारण चने की सट्टेबाजी है. सटोरियों ने वास्तविकता में बाजार नहीं कर सट्टेबाजी द्वारा चने का भाव गिरा दिया है. मोटवानी ने बताया है कि पिछले वर्ष 20 जुलाई को चने को फिर से वायदा (डिब्बा) म्मार्केट में शामिल किया गया था. उसके बाद चने का भाव निरंतर 5000 रुपए से गिरता चला गया है. उन्होंने कहा है कि इस वर्ष चने का उत्पादन 111 लाख टन हुआ है. यदि किसानों को समर्थन मूल्य 4450 रुपए के भाव भी नहीं मिले तो वे भारी नुकसान में रहेंगे. इसलिए सरकार किसानों के हित में चने को वायदा बाजार से तुरंत मुक्त कराए. इसी तरह मोटवानी ने बताया है कि पिछले 1 अप्रैल से सरकार ने 3 लाख टन तुअर और 3 लाख टन मूंग-उड़द के आयात की अनुमति देकर इन फसलों की हालत भी पस्त कर दी है. उन्होंने बताया कि तुअर का समर्थम मूल्य 5450 रुपए है और खुले बाजार में यह 4200 के भाव से बिक रहा है. अर्थात 1200 रुपए कण कीमत में किसान तुअर बेचने को मजबूर है. उन्होंने बताया कि मूंग और उड़द की भी यही स्थिति है. ऐसी स्थिति में सरकार को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों से दलहन की खरीद शुरू करनी चाहिए. निर्यात को प्रोत्साहन देने के बजाय दलहन का आयात करने से किसानों को भारी नुकसान पहुंचाने का काम किया जा रहा है. इस स्थिति में मोटवानी ने चने की सट्टेबाजी बंद कराने और तुअर, मूंग और उड़द के आयात भी तत्काल प्रभाव से बंद करने की मांग की है.

पत्थर से सिर कुचल कर युवक की हत्या

उमरेड रोड के गारगोटी नाले के पास शव बरामद नागपुर : हुडकेश्वर थाना क्षेत्र में आज शनिवार, 19 मई को सुबह उमरेड रोड के नरसाला के गारगोटी परिसर के नाले के पास एक युवक का शव मिलने से परिसर में सनसनी फैल गई. युवक की हत्या पत्थर से सिर कुचलकर की गई है. सुबह तड़के नाले के पास शव दिखाई देने से नागरिकों ने पुलिस कण्ट्रोल को तुरंत सूचना दी. हुडकेश्वर पुलिस घटनस्थल पर पहुंची और शव का पंचनामा कर पोस्टमॉर्टेम के लिए भेज दिया. पता चला कि मृतक का नाम विशाल दिलीप मानकर है. मृतक तुलजाई नगर का रहनेवाला था. इस बारे में अभी तक पुलिस को आरोपियों का कोई भी सुराग नहीं मिल पाया है. हुडकेश्वर पुलिस स्टेशन के पुलिस निरीक्षक माने ने बताया कि आज सुबह फोन पर जानकारी मिली. उन्होंने कहा कि हत्या रात में ही किए जाने का अनुमान है. पत्थर से कुचलने के कारण शव की पहचान करने में पहले थोड़ी परेशानी हुई. मृतक कैटरिंग में वेटर का काम करता था. मृतक से संबंधित लोगों से पूछताछ जारी है. फिलहाल आरोपियों का पता नहीं चल पाया है.

रेलवे स्‍टेशनों पर सुव‍िधा के लिए यात्र‍ियों को हल्की करनी होगी जेब

एयरपोर्ट जैसी सुविधाों के नाम पर कम से कम 10 रुपए वसूले जा सकते हैं नई दिल्ली : देश के 400 स्टेशनों के विकास के तहत रेलवे यात्रियों से "यूजर डेवलपमेंट फी" के नाम पर भारतीय रेल अब यात्रियों से ही पैसे वसूलने की योजना बना रहा है. रेलवे की योजना है कि स्टेशनों पर एयरपोर्ट जैसी मिलने वाली सुविधाएं दी जाए, इसके लिए रेलवे यात्रियों से 10 रुपये प्रति यात्रा वसूले जा सकते हैं. एसी व चेयर कार की 500 रुपए से अधिक की टिकटों पर लगेगी फीस हालांकि इस योजना का प्रारूप अभी आरंभिक स्टेज में ही है, एक खबर के मुताबिक यह चार्ज केवल एयर कंडीशन और चेयर कार में सफर करने वाले यात्रियों से लिया जाएगा. साथ ही यह चार्ज सिर्फ उन्ही टिकटों पर लिया जाएगा, जहां इनकी कीमत 500 रुपए से ज्यादा होगी. अपनी पहचान जाहिर नहीं करने की शर्त पर एक रेलवे अधिकारी ने बताया कि रेलवे की योजना है कि यात्रियों से 5 और 10 रुपए की छोटी रकम ली जाए, यह रकम एसी और चेयर कार की उन टिकटों पर लिया जाएगा, जिसकी कीमत 500 से ज्यादा होगी. स्वचालित सीढ़ियों, सौंदर्यीकरण का खर्च निकालेंगे उन्होंने कहा कि स्टेशनों में स्वचालित सीढ़ियां लगाई जा रही है, इनका सौंदर्यीकरण किया जा रहा है, इसे मैंटेन करने के लिए आखिर रेलवे को कहीं न कहीं से अतरिक्त पैसे चाहिए होंगे. उन्होंने बताया कि इस प्रस्ताव पर रेलवे को अभी अंतिम फैसला लेना है. 400 स्टेशनों का होगा विकास उल्लेखनीय है कि रेलवे जल्द ही देश के 400 स्टेशनों का विकास करने जा रहा है. 1 लाख करोड़ रुपए की इस योजना को पब्लिक-प्राइवेट-पार्टनरशीप (पीपीपी) के तहत रेलवे ने इंडियन रेलवे स्टेशन डेवेलपमेंट कार्पोरेशन (आईआरएसडीसी) को यह कार्य सौंपा है.